शीघ्रपतन का इलाज | Shighrapatan ka Ilaj

शीघ्रपतन का इलाज | Shighrapatan ka Ilaj

सैक्स या इससे जुड़े जितने भी विषय हैं वो किसी पहेली से कम नहीं है । अगर सैक्स के बारे में जानकारी न हो तो ऐसा कईं बार होता है व्यक्ति अनजाने में गलतियां कर बैठता है । ऐसी ही एक समस्या शीघ्रपतन की है जो पुरुषों में काफी अधिक पायी जाती है । शीघ्रपतन की इस समस्या से पुरुष न सिर्फ शारिरिक रुप से परेशान होते हैं बल्कि मानसिक रुप से पीड़ित रहते हैं । लेकिन सवाल ये है कि क्या शीघ्रपतन का पक्का इलाज सभंव है ?

इसका उत्तर पूरे तरीके से ‘हां’ है ।

असल में अगर इस विषय पर थोड़े ध्यान से सोचा जाए तो पता चलेगा कि यह सब माइंड गेम है यानी यदि आपका दिमाग सैक्स या इससे जुड़ी बातों को लेकर प्रशिक्षित यानी ट्रेंन्ड है तो आप कभी भी शीघ्रपतन की समस्या महसूस नहीं करेंगे । फिर भी शीघ्रपतन की समस्या को रोकने या इससे निजात पाने के लिए कुछ अभ्यास या एक्सरसाइज की जा सकती है -
•  सबसे पहले स्वंय पर नियंत्रण बनाएं और इसके लिए एक हफ्ते में दो से तीन बार हस्तमैथुन की प्रक्रिया करें ।
•  हस्तमैथुन करने के तरीकों में लगातार बदलाव करते रहें ताकि यह आपकी फैंटसी पर खरा उतर सके और आपके दिमाग में शीघ्रपतन को लेकर जो भी मिथ हैं यह उनको तोड़ सके ।
•  स्वंय के सामने बार-बार उत्तेजक स्थितियों को पैदा करें और जब वीर्यपात होना महसूस हो तो कंट्रोल करें या फिर आप ये भी कर सकते हैं कि दिन में कम से कम दो बार हस्तमैथुन प्रक्रिया करें और जब वीर्यपात होने लगे तो उसे रोक कर नियंत्रण करें ।
•  ऐसा लगातार करने से 15 दिन के बाद आपका दिमाग यह जानने लगेगा कि आपकी सीमा कहां तक है, आखिर कितने समय के बाद आपका वीर्यपात हो जाता है ।
•  इन तरीकों से आपका खुद पर आत्मविश्वास बढ़ेगा और शीघ्रपतन को लेकर आप मानसिक रुप से मज़बूत रहेंगे ।

योगा से होगा

जैसा की पहले भी बताया जा चुका है कि शीघ्रपतन की समस्या काफी हद तक हमारे मानसिक स्तर से जुड़ी हुई है तो आपके लिए यह जानना बेहद ज़रुरी है कि योग शीघ्रपतन की समस्या में रामबाण का काम करता है । 3 आसन योग में ऐसे हैं जो बहुत ही सरल और सहज हैं जिन्हें आप घर पर बिस्तर में बैठे-बैठे भी कर सकते हैं -

अनुलोम-विलोम आसन

एक जगह सीधा बैठकर नाक के एक छेद से सांस को भरना है और दूसरे छेद से सांस छोड़ देनी है और फिर यही प्रकिया नाक के दूसरे छेद से दोहरानी है । बस 5 मिनट इस आसन को करना है, इससे वीर्यपात को रुकने में पूरा सहयोग मिलेगा ।

कपालभाति प्रणायाम

एक स्थान पर सीधा बैठकर नाक से धीरे-धीरे सांस को भरना और छोड़ना है, यदि आपको यह आसन समझ नहीं आया तो आप यूट्यूब की सहायता से इसे सीख कर कर सकते हैं या नज़दीकी योगगुरु से भी इसकी जानकारी ले सकते हैं। इस आसन से पेट और पेट से संबंधित सभी अंग मज़बूत हो जाते हैं और संवेदनाओं पर नियंत्रण हो जाता है जिससे वीर्यपात होना पूरी तरह बंद हो जाता है । 

भस्रिका प्रणायाम

एक स्थान पर सहज अवस्था में बैठकर धीरे-धीरे लंबी सांस भरनी है और फिर मुंह के द्वारा सांस को छोड़ना है। इसी प्रक्रिया को 10 बार दोहराना है । भस्रिका प्रणायाम से शरीर के भीतर हॉर्मौन में जो भी हलचल है वह स्थिर हो जाती है और व्यक्ति संवेदनाओं को नियंत्रण कर सकता है।

 मेडिटेशन करें

मेडिटेशन या ध्यान लगाने से शीघ्रपतन रुक सकता है, यह बात 100 प्रतिशत सच है । आप जहां पर भी हैं चाहे वो घर हो या ऑफिस अगर आप 2 से 3 मिनट मेडिटेशन करते हैं तो इससे न सिर्फ शीघ्रपतन की समस्या दूर होगी बल्कि सैक्स करते हुए आप खुद को और अपने पार्टनर को पूरी तर संतुष्ट और चरम सुख का अनुभव करा सकते हैं क्योंकि मेडिटेशन से आपका दिमाग पूरी तरह आपके नियंत्रण में आ जाता है और समय के बाद मेडिटेशन की अवधि 10 मिनट या उससे अधिक हो सकती है। 

कंडोम में हस्तमैथुन करें

अगर शीघ्रपतन की समस्या बनी हुई है और पार्टनर के साथ सैक्स करने से पहले शीघ्रपतन हो जाता है तो आपके लिए ज़रुरी है कि आप कंडोम का इस्तेमाल करके हस्तमैथुन करें । इससे आपको दो बड़े फायदे होंगे -

•    कंडोम में हस्तमैथुन करने से आपकी संवेदना यानी फैंटसी की उत्सुक्ता पूरी हो जाएगी और आपकी टाइम लिमिट बढ़ेगी ।
•    दूसरा ये कि इसे करने के बाद जब आप संभोग करेंगे तो आपको शीघ्रपतन नहीं होगा क्योंकि आप पहले उस चरम सुख को महसूस कर चुके हैं।  
आपके लिए यह बात जाननी बेहद अहम है कि शीघ्रपतन कोई महामारी या लाइलाज बीमारी नहीं है, यह बहुत हद तक हमारे मानसिक स्तर से जुड़ी हुई है । बस, जरुरत है सही जानकारी और अभ्यास की, जिससे इसपर आसानी से काबू पाया जा सकता है ।

और पढ़ें - तनाव दूर करने में सेक्स आपकी किस तरह से मदद करता है

और पढ़ें -जब आप नियमित रूप से हस्तमैथुन करते हैं तो क्या होता है