पुरुषों की यौन समस्या का मुख्य कारण सेक्स परफॉर्मेंस की चिंता है

पुरुषों की यौन समस्या का मुख्य कारण सेक्स परफॉर्मेंस की चिंता है

सेक्स या संभोग एक ऐसी क्रिया है जिसे करने से न केवल दो जिस्मों का मिल्न होता है बल्कि दो आत्माओं का भी मिल्न होता है। सेक्स ही एक ऐसी क्रिया है जिससे यह संसार आगे बढ़ रहा है, एक उम्र आने के बाद जब हमारा शरीर सेक्स के लिए तैयार हो जाता है तब उस दौरान समय-समय पर सेक्स की इच्छा होने लगती है, जिसके लिए के साथी की आवश्यकता होती है। 

सीधे-सीधे शब्दों में कहा जाए तो किसी पुरुष और महिला द्वारा बनाये गए शारीरिक संबंध को सेक्स कहते है। महिला की योनि में पुरुष के लिंग का प्रवेश होना और दोनों का चरमसुख को प्राप्त करना सेक्स कहलाता है। अगर आप एक पुरुष है और किसी अन्य पुरुष साथी के साथ सेक्स करते हैं तो इसे भी सेक्स यानि संभोग ही कहा जायगा, वर्तमान में इसे गे सेक्स (Gay Sex) के नाम से भी जाना जाता है। 

चरमसुख के बारे में बात कि जाए तो पुरुषों के मुकाबले महिलाओं महिलाओं को चरमसुख प्राप्त कर पाना काफी मुश्किल होता है। वहीं दूसरी तरफ, सेक्स से जुड़ी सबसे ज्यादा समस्याएँ पुरुषों को होती है जिसमें सामान्य से लेकर अति गंभीर सेक्स समस्याएँ तक होती है। 

पुरुषों से जुड़ी अगर सबसे गंभीर सेक्स समस्या के बारे में बात करें तो वह नपुंसकता है। नपुंसकता, एक ऐसी समस्या है जिसकी वजह से एक पुरुष का जीवन खराब हो जाता है कि उसे डिप्रेशन और अन्य समस्याओं से भी जूझना पड़ सकता है। चलिए इसके बारे में विस्तार से जानते हैं। 

नपुंसकता क्या है? What is impotence or erectile dysfunction?

अगर पुरुष के लिंग में पर्याप्त तनाव न आए या पर्याप्त तनाव आने के बाद भी वह सही तरीके से संभोग न कर पाए जिसमें वीर्य न निकल पाए या पर्याप्त वीर्य न निकल पाए (ejaculate) तो इस स्थिति को नपुंसकता कहा जाता है। वर्तमान में नपुंसकता या इम्पोटेंसी की बजाय इरेक्टाइल डिसफंक्शन (सही तनाव का अभाव) (erectile dysfunction) कहा जाता है। 

नपुंसकता के कारण क्या है? What is the cause of erectile dysfunction?

देखा जाए तो नपुंसकता होने के पीछे का सबसे बड़ा कारण है अपने साथी को खुश करने का दबाव। अब आप किसी महिला साथी के साथ सेक्स कर रहे हैं या फिर किसी पुरुष साथी (gay sex) के साथ। सेक्स के दौरान हमेशा परफॉर्मेंस चिंता (performance concern) लगी रहती है और यही नपुंसकता का सबसे बड़ा कारण बनता है। आपको यह समझना जरूरी है कि हर बार अपने साथी को खुश कर पाना मुमकिन नहीं है, इसके लिए आपको अपने साथी से बात करनी चाहिए और इसके अलग तरह के उपायों पर भी काम करना चाहिए। 

नपुंसकता के अगर अन्य कारणों के बारे में बात की जाए तो वह निम्नलिखित हो सकते हैं :-

  1. तनाव 

  2. पहले कई बार साथी को खुश करने में असमर्थ

  3. हार्मोन का असंतुलन

  4. वीर्य से जुड़ी समस्याएँ

  5. ज्यादा धुम्रपान करने की आदत 

  6. सामान्य से ज्यादा नशीलें उत्पादों का सेवन 

  7. शराब पीने की ज्यादा आदत 

  8. शरीर में पौषक तत्वों की कमी 

  9. हस्तमैथुन की आदत 

  10. सामान्य से ज्यादा संभोग का इतिहास 

  11. लिंग का छोटा आकार या लिंग से जुड़ी कोई समस्या

किसी पुरुष को नपुंसकता किस कारण हुई है यह दुसरे पुरुष से भिन्न हो सकती है। अगर आप इस समस्या से जूझ रहे हैं तो बिना किसी शर्म के अपने डॉक्टर से बात करें और सबसे जरूरी है कि आप अपने साथी से इस बारे में जरूर बात करें।

परफॉर्मेंस की चिंता और नपुंसकता के बीच क्या संबंध है ? What is the relationship between performance anxiety and erectile dysfunction?

परफॉर्मेंस की चिंता और नपुंसकता या नामर्दी को कई तरीकों से जोड़ा जा सकता है। जब भी कोई पुरुष अपने साथी के साथ सेक्स करता है तो उसे इस बात की चिंता बनी रहती कि कहीं वह अपने साथ को खुश नहीं कर पाया तो या उसे चरमसुख नहीं दिला पाया तो क्या होगा? भारत में इस दौरान पुरुष अपनी मर्दानगी को साबित करने की कोशिश में लगा रहता है, अब वो चाहे पुरुष की उम्र कोई भी क्यों न हो।

खुद को साबित करने की चिंता के कारण से ही पुरुष को कई बार नपुंसकता का सामना करना पड़ता है। इतना ही नहीं, पुरुषों को इसकी वजह से यौन रोगों से भी जूझना पड़ता है। रिसर्च बताती है कि एक व्यक्ति के मन की स्थिति और सेक्स परफॉर्मेंस करने की उसकी क्षमता के बीच एक स्पष्ट संबंध होता है। अगर सेक्स के दौरान पुरुष खुद को साबित करने की जगह पूरा ध्यान सेक्स पर लागाए तो शायद ऐसी समस्या का सामना न करना पड़े।

क्यों होती है परफॉर्मेंस एनज़ाइटी ? Why is there performance anxiety?

सेक्सुअल परफॉर्मेंस की चिंता (Sexual Performance Anxiety) सेक्स लाइफ में अपने पार्टनर को संतुष्ट ना कर पाने के डर की वजह से हावी होती है। यह एक मानसिक स्थिति होती है, जिसका ज्यादातर केसेज में वास्तविकता से कोई लेना-देना नहीं होता है। इसमें सेक्स को लेकर क्षमता की कमी या साथी को खुश करने में क्षमता की जैसी भावनाएं शामिल हो सकती हैं। हर व्यक्ति में परफॉर्मेंस एंग्जाइटी की वजह अलग-अलग हो सकती हैं। उदाहरण के लिए अगर आप बहुत ज्यादा पोर्न देखते हैं और लंबे समय से रेग्युलरली मास्टरबेट तो ऐसे में आपको सेक्स फैंटसी (sex fantasy) में खो जाने की दिक्कत देखने को मिलती है। जबकि लड़कियों में आमतौर पर इसकी वजह इंटरकोर्स के दौरान होनेवाले दर्द का डर होता है। आपको यह समझना होगा कि हर सेक्स फैंटसी (sex fantasy) को पूरा नहीं किया जाता, ऐसे में पोर्न में किये गये सेक्स को वास्तविकता में कर पाना संभव नहीं है।

परफॉर्मेंस की चिंता के लक्षण क्या हैं? What are the symptoms of performance anxiety?

परफॉर्मेंस की चिंता हर किसी पर अलग तरह से प्रभाव डालती है, क्योंकि हर कोई अलग-अलग तरीकों से तनाव और चिंता को झेलता है। शरीर में यह अलग-अलग प्रकार के लक्षण पैदा कर सकता है जो कि निम्नलिखित है :-

  1. शीघ्रपतन

  2. सेक्स का ठीक से मजा न उठा पाना 

  3. सेक्स में कम रुचि 

  4. सेक्स में कुछ नया अपनाने में समस्या 

  5. चरमसुख को प्राप्त न कर पाना

  6. सेक्स को काम की तरह लेना 

  7. पार्टनर में रुचि कम होना

  8. जल्दी से जल्दी सेक्स को खत्म करने की कोशिश करना 

यह कुछ सामान्य लक्षण है जो कि हर व्यक्ति में अलग हो सकते हैं।

परफॉर्मेंस की चिंता का सामना कैसे करें? How to deal with performance anxiety?

ऐसे कईं सुझाव हैं जो लोगों को परफॉर्मेंस की चिंता और नपुंसकता से निपटने में मदद कर सकते हैं और उन्हें सकारात्मक यौन अनुभव प्रदान करने में मदद कर सकते हैं।

किसी थेरेपिस्ट से बात करें Talk to a therapist :- किसी काउंसलर या थेरेपिस्ट के साथ अपॉइंटमेंट लें, जिसे यौन समस्याओं के इलाज का अनुभव हो। थेरेपी आपको समझने और फिर उन मुद्दों को कम करने या उनसे छुटकारा पाने में मदद कर सकती है जो आपके यौन प्रदर्शन की चिंता पैदा कर रहे हैं। उदाहरण के लिए, यदि आप शीघ्रपतन के बारे में चिंतित हैं, तो आप कुछ तकनीकों को आजमा सकते हैं जो आपको अधिक नियंत्रण प्राप्त करने में मदद करती हैं।

अन्य तरीकों से अंतरंग हो जाओ Get intimate in other ways :- बिना संभोग के अंतरंग होना सीखें। अपने साथी को कामुक मालिश दें या साथ में गर्म स्नान करें। बारी-बारी से एक-दूसरे को हस्तमैथुन से खुश करें ताकि आपको हमेशा यौन प्रदर्शन करने के लिए दबाव महसूस न करना पड़े।

तनाव और चिंता के चक्र में न फंसे  Don't get caught in the cycle of stress and anxiety :- कई पुरुष प्रदर्शन की चिंता के चक्र में पड़ सकते हैं। उम्मीद के अनुसार परफॉर्म न कर पाना पूरी तरह से सामान्य है और नपुंसकता के लक्षण आमतौर पर चिंता का कारण नहीं होते हैं।हालांकि, परफॉर्मेंस की चिंता करने वाले पुरुष इस चिंता के चक्र में फंस सकते हैं या इसे अपनी नामर्दानगी मान सकते हैं। यह उन्हें आने वाले समय में सेक्स गतिविधियों के बारे में चिंतित करता है और इस चिंता की वजह से नपुंसकता जारी रह सकती है।इसके बजाय, यह जरूरी है कि पुरुष यह समझें कि सेक्स में विफलता के रूप में वह जो महसूस कर रहा हैं वह पूरी तरह से सामान्य है। नकारात्मक बातों पर ध्यान देने के बजाय, वह यह पहचाने कि नपुंसकता के लक्षणों को किस तनाव या चिंता ने प्रभावित किया।व्यक्ति को चाहिए कि वह लक्षणों के बजाय अपना ध्यान कारणों पर लगाए । ऐसा करने से व्यक्ति के मन की यह भ्रांति दूर होगी कि हर बार परफॉर्मेंस एक जैसी नहीं होती, खासकर तब जब व्यक्ति तनाव से गुज़र रहा हो ।

अपने साथी के साथ खुल कर बात करें Talk openly with your partner :- अपनी चिंता के बारे में अपने साथी से बात करने से आपकी कुछ चिंताओं को कम करने में मदद मिल सकती है। जब आप एक साथ किसी समाधान पर पहुंचने की कोशिश करते हैं, तो आप एक जोड़े के रूप में करीब आ सकते हैं और अपने यौन संबंधों में सुधार कर सकते हैं। 

अपने आप को विचलित करें Distract yourself :- जब आप प्यार करते हैं तो कुछ रोमांटिक संगीत या एक सेक्सी फिल्म डालें। कुछ ऐसा सोचें जो आपको चालू करे। अपने यौन प्रदर्शन से ध्यान हटाकर आप उन चिंताओं को दूर कर सकते हैं जो आपको उत्तेजित होने से रोकती हैं। अंत में, इसे अपने आप पर आसान बनाएं। बिस्तर में अपनी उपस्थिति या क्षमता के बारे में खुद को मत मारो। यौन प्रदर्शन की चिंता के लिए सहायता प्राप्त करें ताकि आप स्वस्थ और आनंददायक यौन जीवन में वापस आ सकें।

कुछ एक्सरसाइज़ करें  Do some exercise :- एक हफ्ते में कई बार 20 से 30 मिनट की एक सामान्य दिनचर्या भी परफॉर्मेंस की चिंता या तनाव के स्तर को कम कर सकती है। सामान्य व्यायाम के अलावा, कुछ विशेष व्यायाम भी लक्षणों में भी मदद कर सकते हैं। पैल्विक व्यायाम, जैसे केगेल व्यायाम, नपुंसकता के दौरान लिंग में रक्त को पंप या प्रवाहित (pump blood to the penis) करने के लिए जिम्मेदार मांसपेशियों को मजबूत करने में मदद कर सकते हैं।

इसके अलावा कुछ और तकनीकें भी हैं। परफॉर्मेंस की चिंता और नपुंसकता के इलाज के लिए कई दूसरी तकनीकों का उपयोग किया जाता है। इनमें निम्न बातें शामिल हैं:

  1. मेडिटेशन, जैसे- इमेजरी थेरेपी

  2. जोड़ों यानी सेक्स साथियों की काउंसलिंग

  3. सेक्स थेरेपी

  4. यौन शिक्षा

यह किसी व्यक्ति को अपनी परफॉर्मेंस की चिंता के बारे में उसके यौन साथी के साथ खुलने में मदद कर सकता है। यह तनाव को कम कर सकता है और साथी उसकी चिंता दूर करने के लिए समाधान खोजने में उनकी मदद कर सकता है।

डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए? When should I see a doctor?

परफॉर्मेंस की चिंता और नपुंसकता में कई पुरुषों की मदद करने के लिए व्यक्तिगत कदम उठाते समय, कुछ मौके होते हैं जब डॉक्टर को शामिल होना चाहिए। जो लोग लक्षणों को कम करने के लिए कदम उठाने के बाद भी परफॉर्मेंसकी चिंता का सामना करते रहते हैं, उनको अपने तनाव और चिंता के बारे में डॉक्टर की ज़रुरत होती है। डॉक्टर शारीरिक कारणों की पहचान करने में मदद कर सकते है और आदमी के मानसिक स्वास्थ्य और तनाव के स्तर के बारे में सवाल पूछ सकते हैं। परफॉर्मेंस की चिंता और नपुंसकता को देखने के लिए डॉक्टरों के पास बेहतर सुझाव हो सकते हैं। डॉक्टर के पास जाकर पुरुष बेहतर चिकित्सा उपचार पा सकते हैं जो उनके लक्षणों को दूर करने और सकारात्मक सेक्स अनुभवों को प्रोत्साहित करने में मदद करता है।

निष्कर्ष

नपुंसकता और परफॉर्मेंस एनज़ाइटी के कारण पार्टनर के साथ रिश्ते प्रभावित होने लगते है और सेक्सुअल डिजायर कम हो जाता है। इसका प्रमुख कारण तनाव, डिप्रेशन आदि है इन सभी परेशानियों को दूर करने के लिए डॉक्टर की सलाह अवश्य लें। कई बार नपुंसकता से ग्रसित व्यक्ति शर्म के लिहाज से डॉक्टर के पास जाने से कतराते है लेकिन इसके कारण यह समस्या और जटिल हो जाती है इसलिए नपुंसकता के उपचार के लिए डॉक्टर की सलाह पर उपचार करवाए।



Dr. KK Aggarwal

Recipient of Padma Shri, Vishwa Hindi Samman, National Science Communication Award and Dr B C Roy National Award, Dr Aggarwal is a physician, cardiologist, spiritual writer and motivational speaker. He was the Past President of the Indian Medical Association and President of Heart Care Foundation of India. He was also the Editor in Chief of the IJCP Group, Medtalks and eMediNexus

 More FAQs by Dr. KK Aggarwal

Get our Newsletter

Filter out the noise and nurture your inbox with health and wellness advice that's inclusive and rooted in medical expertise.

Your privacy is important to us

MEDICAL AFFAIRS

CONTENT INTEGRITY

NEWSLETTERS

© 2022 Medtalks