हेपेटोमेगाली क्या है? कारण, लक्षण और इलाज | What is Hepatomegaly in Hindi

हेपेटोमेगाली क्या है? What is hepatomegaly?

हेपेटोमेगाली लीवर की एक ऐसी स्थिति को बताता है जिसमें लीवर का आकार बड़ा होता है। आपका लीवर सबसे बड़ा आंतरिक अंग है। 

लीवर एकमात्र आंतरिक अंग है जो सर्जरी के बाद वापस बढ़ सकता है, जिससे जीवित लीवर दान संभव हो जाता है। यदि आप अपने लीवर का एक हिस्सा दान करते हैं, तो यह अपने मूल आकार में पुन: उत्पन्न हो जाएगा। प्रत्यारोपित भाग भी बढ़ेगा।

हेपेटोमेगाली से क्या अर्थ है? What is meant by hepatomegaly?

यदि आपका लीवर बढ़ा हुआ है, तो इसका मतलब यह हो सकता है कि आप निम्न स्थितियों से जूझ रहें हैं :-

1. लीवर की एक बीमारी

2. कैंसर, जैसे ल्यूकेमिया (leukemia)

3. एक आनुवंशिक रोग

4. हृदय और रक्त वाहिका संबंधी असामान्यताएं (Heart and blood vessel abnormalities)

5. संक्रमण

6. विष विषाक्तता (poison poisoning)

हेपेटोमेगाली का कारण बनने वाले कई लक्षण आपके लीवर की कार्य करने और आपके शरीर की मदद करने की क्षमता को ख़राब कर सकते हैं।

जबकि हेपेटोमेगाली हमेशा चिकित्सा मूल्यांकन का एक कारण होता है, सभी अंतर्निहित स्थितियों को चिकित्सा आपात स्थिति नहीं माना जाता है। यदि आपके पास बढ़े हुए लीवर के लक्षण या संकेत हैं तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

हेपेटोमेगाली के संकेत और लक्षण क्या हैं? What are the signs and symptoms of hepatomegaly?

बढ़े हुए लीवर में अपने आप कोई लक्षण नहीं हो सकते हैं। लेकिन यदि कोई चिकित्सीय स्थिति आपके बढ़े हुए लीवर का कारण बन रही है, तो आपको गंभीर लक्षणों का अनुभव हो सकता है जैसे :-

1. पीलिया, या त्वचा और आँखों का पीला पड़ना

2. मांसपेशियों में दर्द

3. थकान

4. खुजली

5. जी मिचलाना

6. उल्टी करना

7. पेट में दर्द या मास

8. अपर्याप्त भूख

9. पैरों और टांगों में सूजन

10. आसान आघात

11. वजन घटना

12. पेट का आकार बढ़ना

इनमें से किसी भी लक्षण के लिए आपके डॉक्टर द्वारा मूल्यांकन की आवश्यकता होती है।

यदि आपनिम्न लक्षणों से जूझ रहें हैं तो तुरंत आपातकालीन चिकित्सा सहायता लें :-

1. गंभीर पेट दर्द

2. बुखार और पीलिया

3. खूनी या कॉफी ग्राउंड उल्टी

4. सांस लेने में कठिनाई

5. मल में काला, रुका हुआ मल या चमकीला लाल रक्त आना

6. इन लक्षणों को चिकित्सीय आपात स्थिति माना जाता है।

हेपेटोमेगाली के कारण क्या हैं? What are the causes of hepatomegaly?

हेपेटोमेगाली अक्सर एक संकेत है कि लीवर के भीतर ऊतक ठीक से काम नहीं कर रहा है। अमियोडेरोन और स्टैटिन जैसी कुछ दवाएं लेने से भी लीवर को नुकसान हो सकता है।

सामान्य कारणों में निम्न शामिल हैं :-

1. मेटास्टैटिक कैंसर (Metastatic Cancer), या कैंसर जो अन्य अंगों में शुरू होता है और लीवर तक फैलता है

2. गैर-अल्कोहल फैटी लीवर रोग (एनएएफएलडी) (Non-Alcoholic Fatty Liver Disease (NAFLD)

3. हृदय और रक्त वाहिका संबंधी असामान्यताएं 

4. लीवर कैंसर (liver cancer)

5. सिरोसिस (cirrhosis

6. वायरल हेपेटाइटिस (आमतौर पर ए, बी, या सी), या प्रत्येक वायरस के कारण होने वाले अलग-अलग लीवर संक्रमण

7. शराबी लीवर की बीमारी, या लीवर की क्षति की एक श्रृंखला जिसमें शराब के सेवन के कारण फैटी जमा, सूजन और डराना शामिल है

कंजेस्टिव हृदय विफलता के कारण रक्त लीवर शिराओं में वापस जमा हो सकता है। ये वे नसें हैं जो लीवर से रक्त निकालने में मदद करती हैं। जब वे वापस आते हैं, तो लीवर संकुचित हो जाएगा और बड़ा हो जाएगा। इसे कंजेस्टिव हेपेटोमेगाली कहा जाता है।

हेपेटोमेगाली के कम सामान्य कारणों में निम्न शामिल हैं :-

1. लिंफोमा (lymphoma), या लसीका तंत्र में रक्त कैंसर (blood cancer in the lymphatic system)

2. ल्यूकेमिया (leukemia) 

3. मल्टीपल मायलोमा (multiple myeloma) 

4. हेमोक्रोमैटोसिस (hemochromatosis) 

5. विल्सन रोग (Wilson's disease)

6. गौचर रोग (gaucher disease), या एक विकार जिसके कारण लीवर में वसायुक्त पदार्थ जमा हो जाते हैं

7. विषाक्त हेपेटाइटिस (toxic hepatitis), या रासायनिक विषाक्तता के कारण लीवर की सूजन

8. पित्त नली या पित्ताशय की रुकावट (blockage of the bile duct or gall bladder), या पित्त का संचय और लीवर के भीतर सूजन, अक्सर पित्त पथरी से

9. विभिन्न कारणों से लीवर सिस्ट (Liver cyst due to various reasons), या लीवर के भीतर तरल पदार्थ से भरी थैली

कुछ संक्रमण और कुछ चिकित्सीय स्थितियाँ आपके लीवर के भीतर वृद्धि का कारण बन सकती हैं। लीवर में वृद्धि सौम्य (कैंसर नहीं) या घातक (कैंसर) हो सकती है। आमतौर पर, किसी भी वृद्धि के कारण आपके लीवर का आकार बढ़ जाएगा।

हेपेटोमेगाली के जोखिम कारक क्या हैं? What are the risk factors for hepatomegaly?

कुछ लोगों को आनुवंशिक रूप से हेपेटोमेगाली का अधिक खतरा होता है। यदि आपका या आपके परिवार का इतिहास रहा है तो आप अधिक जोखिम में हो सकते हैं :-

1. ऑटोइम्यून विकार (autoimmune disorders), विशेष रूप से वे जो लीवर को प्रभावित करते हैं

2. सूजा आंत्र रोग (inflammatory bowel disease)

3. क्रोनिक लीवर की बीमारी (chronic liver disease)

4. लीवर कैंसर

5. सिकल सेल रोग (sickle cell disease)

6. मोटापा

जीवनशैली के कारक भी किसी व्यक्ति में हेपेटोमेगाली के जोखिम को बढ़ा सकते हैं। इन जीवनशैली कारकों निम्न में शामिल हैं :-

1. अत्यधिक शराब का सेवन

2. टैटू, रक्त-आधान और असुरक्षित यौन संबंध, जो आपको एचआईवी और हेपेटाइटिस बी और सी के खतरे में डालते हैं

3. मलेरिया के जोखिम से जुड़े विदेशी देशों की यात्रा

4. मा हुआंग, कॉम्फ्रे और मिस्टलेटो जैसी जड़ी-बूटियाँ लेना

यदि आप हेपेटोमेगाली के जोखिमों के बारे में चिंतित हैं तो अपने डॉक्टर से बात करें। आप जो भी ओवर-द-काउंटर या हर्बल सप्लीमेंट ले रहे हैं उसके बारे में हमेशा अपने डॉक्टर को बताएं।

आपका डॉक्टर हेपेटोमेगाली का निदान कैसे करेगा? How will your doctor diagnose hepatomegaly?

आपका लीवर एक त्रिकोणीय अंग है। यह आपके डायाफ्राम के नीचे, आपकी दाहिनी पसली के निचले किनारे के नीचे स्थित है। यदि आपका डॉक्टर शारीरिक परीक्षण के दौरान इसे महसूस कर सकता है तो आपका लीवर बड़ा हो सकता है। एक सामान्य लीवर को आपकी उंगलियों से महसूस नहीं किया जा सकता है।

उम्र के साथ आपके लीवर का आकार और वजन स्वाभाविक रूप से बढ़ता है। बच्चों के लिए, लीवर को आम तौर पर उसके विस्तार से, ऊपर से नीचे तक उसके सबसे मोटे हिस्से से मापा जाता है। वयस्क लीवर को लंबाई से मापा जाता है।

2003 के एक अध्ययन में वयस्क लीवर के औसत व्यास का अनुमान लगाने के लिए अल्ट्रासाउंड का उपयोग किया गया। नीचे दिया गया डेटा 18 से 88 वर्ष की आयु के 2,080 लोगों से एकत्र किया गया था। इस अध्ययन में, केवल 11 प्रतिशत का लीवर 16 सेंटीमीटर (सेमी) से बड़ा था।

औसत लिवर का आकार उम्र के अनुसार भिन्न होता है और यह हो सकता है :-

1 से 3 महीने के लिए 6.4 सेमी

4 से 9 महीने के लिए 7.6 सेमी

1 से 5 वर्ष के लिए 8.5 सेमी

5 से 11 वर्ष के लिए 10.5 सेमी

12 से 16 वर्ष के लिए 11.5 से 12.1 सेमी

वयस्क महिलाओं के लिए 13.5 सेमी +/- 1.7 सेमी

वयस्क पुरुषों के लिए 14.5 सेमी +/- 1.6 सेमी

शरीर का आकार, वजन और लिंग भी आपके लीवर के आकार को प्रभावित कर सकते हैं। हेपेटोमेगाली के संभावित लक्षणों के लिए आपके लीवर की जांच करते समय आपका डॉक्टर इन्हें ध्यान में रखेगा।

यह पता लगाने के लिए कि आपको हेपेटोमेगाली क्यों है, आपका डॉक्टर विभिन्न प्रकार के परीक्षणों का आदेश दे सकता है, जैसे :-

1. रक्त कोशिकाओं की असामान्य संख्या की जाँच के लिए एक पूर्ण रक्त गणना (complete blood count)

2. लीवर के कार्य का मूल्यांकन करने के लिए लीवर एंजाइम जाँच (liver enzyme test)

3. पेट का एक्स-रे, पेट के अंगों का मूल्यांकन करने के लिए एक गैर-आक्रामक एक्स-रे अध्ययन (x-ray study)

4. पेट की उच्च-रिज़ॉल्यूशन छवियों के लिए सीटी स्कैन (CT scan)

5. पेट के विशिष्ट अंगों की उच्च-रिज़ॉल्यूशन छवियों के लिए एमआरआई (MRI)

6. अल्ट्रासाउंड (ultrasound), लीवर और पेट के अन्य अंगों का मूल्यांकन करने के लिए ध्वनि तरंगों का उपयोग

यदि डॉक्टर को अधिक गंभीर स्थिति का संदेह है, तो वे लीवर बायोप्सी की सिफारिश कर सकते हैं। लिवर बायोप्सी एक सर्जिकल परीक्षण है जहां आपका डॉक्टर सूक्ष्म जांच के लिए आपके लिवर का एक छोटा सा नमूना लेता है।

हेपेटोमेगाली की संभावित जटिलताएँ क्या हैं? What are the possible complications of hepatomegaly?

बढ़े हुए लीवर को महसूस करने की संभावना कम है। लेकिन क्योंकि आपके लीवर को नुकसान होने से आपके पेट के भीतर तरल पदार्थ जमा हो सकता है, आप देख सकते हैं कि आपका पेट सामान्य से अधिक बाहर निकलता है।

आप पीलिया, भूख न लगना और पेट दर्द जैसे अन्य लक्षणों का भी अनुभव कर सकते हैं। यदि आपको लगता है कि आपमें हेपेटोमेगाली के लक्षण या संकेत हो सकते हैं, तो डॉक्टर से संपर्क करें।

आपका लीवर एक महत्वपूर्ण अंग है। अपने लीवर के स्वास्थ्य को प्रबंधित करने का सबसे अच्छा तरीका स्वस्थ प्रथाओं के संबंध में अपने डॉक्टर के निर्देशों का पालन करना है। इसमें अधिक व्यायाम करना, कम शराब पीना और संतुलित आहार खाना शामिल हो सकता है।

हेपेटोमेगाली के उपचार क्या हैं? What are the treatments for hepatomegaly?

आपके उपचार के विकल्प उन अंतर्निहित विकारों पर निर्भर करते हैं जो आपके लीवर के बढ़ने का कारण बनते हैं। आपके डॉक्टर द्वारा सुझाए गए कुछ उपचारों में निम्न शामिल हो सकते हैं :-

1. लीवर की विफलता या हेपेटाइटिस सी जैसे संक्रमण के लिए दवाएं और उपचार

2. लीवर कैंसर के लिए कीमोथेरेपी, सर्जरी, या विकिरण

3. लीवर की क्षति के लिए लीवर प्रत्यारोपण

4. मेटास्टैटिक कैंसर के स्रोत का इलाज करना

5. लिंफोमा या ल्यूकेमिया का उपचार, प्रकार, प्रसार की डिग्री और आपके सामान्य स्वास्थ्य पर निर्भर करता है

6. शराब या कोई अन्य नशीला पदार्थ छोड़ना

एक बार जब आपका डॉक्टर हेपेटोमेगाली की पुष्टि कर देता है, तो वे आमतौर पर आपके लीवर के स्वास्थ्य के लिए जीवनशैली में बदलाव की सिफारिश करेंगे। इसमे निम्न शामिल है :-

1. शराब पीने से परहेज करना

2. स्वस्थ आहार लेना

3. नियमित व्यायाम में संलग्न होना

4. यदि आपका वजन अधिक है तो वजन कम करें

आप हेपेटोमेगाली को कैसे रोक सकते हैं? How can you prevent hepatomegaly?

ऐसे कई जीवनशैली कारक हैं जो हेपेटोमेगाली का कारण बन सकते हैं। इन कारकों को प्रबंधित करने से आपके बढ़े हुए लीवर का जोखिम कम हो सकता है।

1. यहां कुछ चीजें हैं जो आप कर सकते हैं :-

2. स्वस्थ जीवनशैली अपनाएं और स्वस्थ वजन बनाए रखें।

3. यदि आपको मधुमेह है तो अपने रक्त शर्करा का प्रबंधन करें।

4. शराब का सेवन सीमित करें या बिल्कुल न पीने पर विचार करें। यदि आपका सेवन अत्यधिक है तो आपका डॉक्टर आपको बता सकेगा।

5. विटामिन की खुराक लेने से पहले अपने डॉक्टर से बात करें, क्योंकि वे आपके लीवर पर प्रतिकूल प्रभाव डाल सकते हैं।

6. आप जिस भी हर्बल सप्लीमेंट पर विचार कर रहे हैं, उसके बारे में अपने डॉक्टर से चर्चा करें। चिंता की रोकथाम, वजन घटाने या मांसपेशियों के निर्माण के लिए विपणन की जाने वाली कई जड़ी-बूटियाँ आपके लीवर को नुकसान पहुंचा सकती हैं।

7. यदि आप कीटनाशकों या एयरोसोलिज्ड क्लीनर (aerosolized cleaner) जैसे रसायनों के आसपास काम करते हैं तो सुरक्षित संचालन के लिए हमेशा अपने नियोक्ता की सिफारिशों का पालन करें।

ध्यान दें, कोई भी दवा बिना डॉक्टर की सलाह के न लें। सेल्फ मेडिकेशन जानलेवा है और इससे गंभीर चिकित्सीय स्थितियां उत्पन्न हो सकती हैं।

Logo

Medtalks is India's fastest growing Healthcare Learning and Patient Education Platform designed and developed to help doctors and other medical professionals to cater educational and training needs and to discover, discuss and learn the latest and best practices across 100+ medical specialties. Also find India Healthcare Latest Health News & Updates on the India Healthcare at Medtalks