लिंफोमा क्या है? कारण, लक्षण और इलाज | Lymphoma in Hindi

लिंफोमा क्या है? कारण, लक्षण और इलाज | Lymphoma in Hindi

लिंफोमा क्या है? What is lymphoma?

लिंफोमा या लिम्फोमा कैंसर के लिए एक शब्द है जो आपके लसीका तंत्र (lymphatic system) में शुरू होता है। लिंफोमा के दो प्रमुख वर्ग हैं: हॉजकिन लिंफोमा (hodgkin lymphoma) और गैर-हॉजकिन लिंफोमा (non-Hodgkin lymphoma)। यहां, हम लिम्फोमास (lymphomas) पर ध्यान केंद्रित करते हैं जो वयस्कों को प्रभावित करते हैं।

लसीका प्रणाली क्या है? What is lymphatic system?

आपका लसीका तंत्र आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली (immune system) को आपके शरीर को संक्रमण और बीमारी से बचाने में मदद करता है। आपके लिम्फ नोड्स (lymph nodes) संक्रमण के खिलाफ लड़ने के लिए अग्रिम पंक्ति में खड़े रहते हैं। वे सफेद रक्त कोशिकाओं (white blood cells) (लिम्फोसाइट्स – lymphocytes) का उत्पादन करते हैं जो संक्रमण से लड़ने के लिए गुणा करते हैं। इनमें एंटीबॉडी बनाने वाली बी-कोशिकाएं (B-cells) और अस्वस्थ या संक्रमित कोशिकाओं (infected cells) को पहचानने और नष्ट करने वाली टी-कोशिकाएं (T-cells) शामिल हैं।

लिंफोमा तब होता है जब आपकी श्वेत रक्त कोशिकाओं में से एक तेजी से बढ़ने वाली कैंसर कोशिकाओं (cancer cells) में बदल जाती है जो मरती नहीं हैं। ये कैंसर कोशिकाएं आपके लिम्फ नोड्स या आपके अस्थि मज्जा (bone marrow), प्लीहा (spleen) या अन्य अंगों सहित अन्य क्षेत्रों में विकसित हो सकती हैं।

क्या लिंफोमा एक आम बीमारी है? Is lymphoma a common disease?

वयस्क गैर-हॉजकिन (adult non-hodgkin) का लिंफोमा तीन लिम्फोमा प्रकारों में सबसे आम है। हर साल, 100,000 में लगभग 20 लोगों में गैर-हॉजकिन के लिंफोमा का निदान किया जाता है और 100,000 में 3 वयस्कों में वयस्क हॉजकिन के लिंफोमा का निदान किया जाता है।

लिंफोमा किसे प्रभावित करता है? Who does lymphoma affect?

प्रत्येक लिंफोमा प्रकार अलग-अलग लोगों को प्रभावित करता है:

  1. गैर-हॉजकिन लिंफोमा देर से वयस्कता (60 से 80 वर्ष की आयु) में और महिलाओं की तुलना में पुरुषों में अधिक आम है।

  2. हॉजकिन लिंफोमा प्रारंभिक वयस्कता (20 से 39 वर्ष की आयु) और देर से वयस्कता (65 वर्ष और अधिक उम्र) में अधिक आम है। पुरुषों में वयस्क हॉजकिन के लिंफोमा विकसित होने की संभावना महिलाओं की तुलना में थोड़ी अधिक होती है।

लिंफोमा के लिए जीवित रहने की दर क्या हैं? What are the survival rates for lymphoma?

प्रारंभिक निदान और अधिक प्रभावी उपचार का मतलब है कि निदान के पांच साल बाद अधिक लोग लिंफोमा के साथ जी रहे हैं। निदान के पांच साल बाद हॉजकिन लिंफोमा वाले लगभग 90% लोग जीवित हैं। गैर-हॉजकिन लिंफोमा वाले 70% से अधिक वयस्क निदान के पांच साल बाद जीवित हैं।

लिंफोमा के लक्षण क्या हैं? What are the symptoms of lymphoma?

लिम्फोमा के कई लक्षण अन्य बीमारियों के समान होते हैं। इन लक्षणों के होने का मतलब यह नहीं है कि आपको लिंफोमा है। लेकिन अगर आपको ऐसे लक्षण हैं जो कई हफ्तों तक बने रहते हैं तो आपको अपने स्वास्थ्य सेवा प्रदाता से बात करनी चाहिए। लिंफोमा के लक्षणों में निम्न शामिल हो सकते हैं :- 

  1. आपकी गर्दन, बगल या ग्रोइन में एक या एक से अधिक लिम्फ नोड्स में दर्द रहित सूजन।

  2. लगातार थकान।

  3. अस्पष्टीकृत बुखार।

  4. भीगने वाली रात को पसीना आता है।

  5. साँसों की कमी।

  6. अस्पष्टीकृत वजन घटाना।

  7. त्वचा में खुजली।

लिंफोमा के क्या कारण हैं? What are the causes of lymphoma? 

यद्यपि अधिकांश कैंसर यादृच्छिक संयोग (random coincidence) से उत्पन्न होते हैं, शोधकर्ताओं ने निम्नलिखित स्थितियों या परिस्थितियों की पहचान की है जो आपके जोखिम को बढ़ा सकती हैं:

  1. यदि आपके पास एचआईवी (HIV), एपस्टीन-बार (epstein-barr) (मोनोन्यूक्लिओसिस – mononucleosis) और कपोसी सार्कोमा ह्यूमन इम्यूनोडेफिशिएंसी वायरस (Kaposi sarcoma human immunodeficiency virus) सहित वायरस हैं या हैं।

  2. आपके पास लिंफोमा का पारिवारिक इतिहास है।

  3. आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली बीमारी या चिकित्सा उपचार जैसे अंग प्रत्यारोपण (organ transplant) से समझौता या कमजोर हो जाती है।

  4. आपको ऑटोइम्यून बीमारी (autoimmune disease) है। एक ऑटोम्यून्यून बीमारी तब होती है जब आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली इसे बचाने के बजाय गलती से आपके शरीर पर हमला करती है।

  5. आपको कुछ पुराने संक्रमण हैं।

लिंफोमा का निदान कैसे किया जाता है? How is lymphoma diagnosed?

लिम्फोमा का निदान करने और उपचार निर्धारित करने के लिए हेल्थकेयर प्रदाता कई प्रकार के परीक्षणों का उपयोग करते हैं:

  1. पूर्ण रक्त गणना (सीबीसी) (complete blood count (CBC) :- एक सीबीसी आपके रक्त कोशिकाओं को मापता है और गिनता है। स्वास्थ्य सेवा प्रदाता विभिन्न प्रकार की बीमारियों का पता लगाने के लिए सीबीसी का उपयोग करते हैं।

  2. रक्त रसायन परीक्षण (blood chemistry test) :- यह परीक्षण आपके रक्त में कुछ पदार्थों की संख्या को मापता है।

  3. सीटी स्कैन (CT scan) :- यह परीक्षण आपके कोमल ऊतकों (soft tissues) और हड्डियों की त्रि-आयामी छवियां (three-dimensional images of bones) बनाने के लिए एक्स-रे (x-ray) और एक कंप्यूटर की एक श्रृंखला का उपयोग करता है।

  4. पीईटी स्कैन (PET scan) :- आपका स्वास्थ्य सेवा प्रदाता आपके शरीर में एक रेडियोधर्मी ट्रेसर (radioactive tracer) इंजेक्ट करता है। ट्रेसर कैंसर के शुरुआती लक्षणों का पता लगाने में मदद करता है।

  5. एमआरआई (MRI) :- यह परीक्षण आपके शरीर के अंगों और संरचनाओं की बहुत स्पष्ट छवियों का उत्पादन करने के लिए एक बड़े चुंबक, रेडियो तरंगों और एक कंप्यूटर का उपयोग करता है।

  6. लिम्फ नोड या अन्य अंगों की बायोप्सी (biopsy of lymph nodes or other organs) :- हेल्थकेयर प्रदाता माइक्रोस्कोप के तहत जांच के लिए कोशिकाओं, तरल पदार्थ, ऊतकों या वृद्धि को प्राप्त करने के लिए बायोप्सी करते हैं।

  7. काठ का पंचर (स्पाइनल टैप) (lumbar puncture (spinal tap) :- आपका स्वास्थ्य सेवा प्रदाता मस्तिष्कमेरु द्रव (cerebrospinal fluidS) का नमूना लेने के लिए आपकी पीठ के निचले हिस्से में एक सुई डालता है। सेरेब्रोस्पाइनल द्रव स्पष्ट तरल है जो आपकी रीढ़ और मस्तिष्क को घेरता है।

  8. अस्थि मज्जा बायोप्सी (bone marrow biopsy) :- आपका स्वास्थ्य सेवा प्रदाता आपकी हड्डी के अंदर से आपके अस्थि मज्जा का एक छोटा सा नमूना निकालने के लिए आपकी श्रोणि की हड्डी या स्तन की हड्डी में एक सुई डालता है।

लिंफोमा के इलाज के लिए कौन सी दवाएं और उपचार उपयोग किए जाते हैं? What drugs and therapies are used to treat lymphoma?

लिंफोमा के उपचार आपके लिंफोमा के प्रकार के आधार पर भिन्न होते हैं। आम तौर पर, लिंफोमा उपचार में निम्न शामिल हैं :-

  1. कीमोथेरेपी (chemotherapy) :- स्वास्थ्य सेवा प्रदाता कैंसर कोशिकाओं को मारने के लिए कई प्रकार की दवाओं का उपयोग करते हैं।

  2. विकिरण चिकित्सा (radiation therapy) :- विकिरण चिकित्सा कैंसर कोशिकाओं को मारने या उन्हें बढ़ने से रोकने के लिए ऊर्जा के मजबूत बीम का उपयोग करती है।

  3. लक्षित चिकित्सा (targeted therapy) :- लक्षित चिकित्सा सामान्य कोशिकाओं को नुकसान पहुँचाए बिना कैंसर कोशिकाओं पर हमला करने के लिए दवाओं या अन्य पदार्थों का उपयोग करती है।

  4. इम्यूनोथेरेपी (immunotherapy) :- इम्यूनोथेरेपी आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को उत्तेजित करती है ताकि यह कैंसर से लड़ने के लिए और अधिक कर सके। उपचार आपके शरीर में कैंसर से लड़ने वाली कोशिकाओं के उत्पादन को बढ़ावा दे सकते हैं या स्वस्थ कोशिकाओं को कैंसर कोशिकाओं की पहचान करने और उन पर हमला करने में मदद कर सकते हैं।

  5. अस्थि मज्जा प्रत्यारोपण (bone marrow transplant) :- स्वास्थ्य सेवा प्रदाता क्षतिग्रस्त रक्त कोशिकाओं को स्वस्थ रक्त कोशिकाओं से बदलने के लिए आपके अस्थि मज्जा से स्टेम कोशिकाओं का प्रत्यारोपण करते हैं।

  6. सीएआर टी-सेल थेरेपी (CAR T-cell therapy) :- यह उपचार कैंसर कोशिकाओं को मारने के लिए आपके सफेद रक्त कोशिकाओं का उपयोग करता है।

लिंफोमा उपचार के आम दुष्प्रभाव क्या हैं? What are the common side effects of lymphoma treatment?

लिंफोमा उपचार आपकी स्थिति के आधार पर भिन्न होते हैं। अधिकांश उपचारों के अलग-अलग दुष्प्रभाव होते हैं। उतना ही महत्वपूर्ण, एक ही उपचार के लिए अक्सर लोगों की अलग-अलग प्रतिक्रियाएँ होती हैं। अपने स्वास्थ्य सेवा प्रदाता से पूछें कि संभावित दुष्प्रभावों सहित उपचार के दौरान क्या अपेक्षा की जाए। आपका स्वास्थ्य सेवा प्रदाता आपके उपचार के दुष्प्रभावों को प्रबंधित करने के तरीके सुझाएगा।

मैं लिंफोमा के विकास के अपने जोखिम को कैसे कम कर सकता हूँ? How can I reduce my risk of developing lymphoma?

शोधकर्ता लिम्फोमा जोखिम कारकों की पहचान करना जारी रखते हैं। यह विश्वास करने का कारण है कि कुछ विषाणु और पारिवारिक चिकित्सा इतिहास लिंफोमा के विकास के जोखिम को बढ़ाते हैं। अपने स्वास्थ्य सेवा प्रदाता से बात करें यदि आपको लगता है कि आपका चिकित्सा इतिहास या पारिवारिक चिकित्सा इतिहास आपके लिंफोमा के विकास के जोखिम को बढ़ा सकता है।

user
Mr. Ravi Nirwal

Mr. Ravi Nirwal is a Medical Content Writer at IJCP Group with over 6 years of experience. He specializes in creating engaging content for the healthcare industry, with a focus on Ayurveda and clinical studies. Ravi has worked with prestigious organizations such as Karma Ayurveda and the IJCP, where he has honed his skills in translating complex medical concepts into accessible content. His commitment to accuracy and his ability to craft compelling narratives make him a sought-after writer in the field.

 More FAQs by Mr. Ravi Nirwal

Logo

Medtalks is India's fastest growing Healthcare Learning and Patient Education Platform designed and developed to help doctors and other medical professionals to cater educational and training needs and to discover, discuss and learn the latest and best practices across 100+ medical specialties. Also find India Healthcare Latest Health News & Updates on the India Healthcare at Medtalks