क्या होता है अगर पुरुष हस्तमैथुन करते रहे ?

क्या होता है अगर पुरुष हस्तमैथुन करते रहे ?

हस्तमैथुन कुछ साइड इफेक्ट्स के साथ एक सामान्य और स्वस्थ यौन गतिविधि है । कई दावे हस्तमैथुन को लेकर किए जाते हैं जो  लेते हैं, जैसे कि अंधा होना और इनमें से अधिकांश दावे असत्य हैं । हस्तमैथुन तब होता है जब कोई व्यक्ति अपने लिंग को यौन सुख के लिए उत्तेजित करता है, जिससे संभोग सुख का अहसास हो सकता है । हस्तमैथुन सभी उम्र के पुरुषों और महिलाओं में की जाने वाली एक सामान्य गतिविधि है और स्वस्थ यौन संबंध में एक भूमिका निभाता है ।

रिसर्च में पाया गया है कि संयुक्त राज्य अमेरिका में 14 से 17 वर्ष की आयु के किशोरों में, लगभग 74 प्रतिशत पुरुष और 48 प्रतिशत महिलाएँ हस्तमैथुन करती हैं । बढ़े यानि वयस्क लोगों में लगभग 63 प्रतिशत पुरुष और 32 प्रतिशत महिलाएं 57 से 64 वर्ष की उम्र के बीच हस्तमैथुन करती हैं । 

लोग कई कारणों से हस्तमैथुन करते हैं । इनमें आनंद, मस्ती और तनाव मुक्ति शामिल हैं । कुछ व्यक्ति अकेले हस्तमैथुन करते हैं, जबकि दूसरे लोग साथी के साथ हस्तमैथुन करते हैं । इस लेख में हस्तमैथुन को लेकर मिथकों के बारे में जानकारी जुटाई गई है । 

हस्तमैथुन मिथक

हस्तमैथुन के बारे में कई मिथक हैं । भले ही इनको लेकर कईं वाद-विवाद रहे हो, लेकिन यह मिथ बार-बार सामने आते रहते हैं । हस्तमैथुन के बारे में ज्यादातर दावे विज्ञान द्वारा मान्यता प्राप्त नहीं हैं । यह दिखाने के लिए अक्सर कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है कि हस्तमैथुन से शरीर को कोई नुकसान होता है । हस्तमैथुन करने के परिणाम यह नहीं होते :
आंखें कमज़ोर होना
बाल झड़ना
जीवन के बाद नुपुंसकता
नपुंसकता
लिंग का सिकुड़ना
लिंग का टेढ़ा हो जाना
शंक्राणु यानि स्पर्म कम होना 
बांझपन
मानसिक कमज़ोरी
शारीरिक कमज़ोरी

कुछ जोड़ों को चिंता है कि अगर दोनों में से कोई एक हस्तमैथुन करता है, तो उनका रिश्ते में असंतुष्टता आ जाएगी,  यह भी एक मिथक है । अधिकांश पुरुष और महिलाएं अकेले या एक साथ हस्तमैथुन करना जारी रखते हैं जब वे एक रिश्ते में या विवाहित होते हैं और कई इसे अपने रिश्ते का एक सुखद हिस्सा मानते हैं । एक अध्ययन में पाया गया कि जिन महिलाओं ने हस्तमैथुन किया, उन्होंने हस्तमैथुन नहीं करने वालों की तुलना में अधिक शादियां कीं हैं ।

हस्तमैथुन के साइड इफेक्ट

हस्तमैथुन से कोई हानि नहीं है । कुछ लोगों को त्वचा रूखी या कोमल महसूस हो सकती है यदि वे बहुत अधिक हस्तमैथुन करते हैं लेकिन यह स्थिति आमतौर पर कुछ दिनों में ठीक हो जाती है । यदि पुरुष अक्सर कम समय के भीतर हस्तमैथुन करते हैं, तो उन्हें लिंग की थोड़ी सूजन का अनुभव हो सकता है जिसे एडिमा कहा जाता है । यह सूजन आमतौर पर कुछ दिनों के भीतर गायब हो जाती है । कुछ दूसरे प्रभाव भी हैं –

ग्लानि या कुछ गलत करने का भाव
कुछ लोग जो इस बात की चिंता करते हैं कि हस्तमैथुन उनके धार्मिक, आध्यात्मिक या सांस्कृतिक विश्वासों को खत्म कर रहा है, वह इसे करने के बाद एक ग्लानि, नीचता या गलत कर्म की भावनाओं का सामना करते हैं । हालांकि, हस्तमैथुन अनैतिक या गलत नहीं है और आत्म-आनंद शर्मनाक नहीं है । एक दोस्त, हेल्थ केयर प्रोफेशनल या चिकित्सक के साथ इस विषय पर चर्चा करना भावनाओं को बदलने में मदद कर सकता है जिसे वे हस्तमैथुन से जोड़ते हैं । 

यौन संवेदनशीलता में कमी 
यदि पुरुषों के पास तेज़ हस्तमैथुन करने की विधि है जिसमें उनके लिंग पर बहुत अधिक पकड़ शामिल है, तो वे उत्तेजना में कमी का अनुभव कर सकते हैं । एक आदमी तकनीक के बदलाव के साथ और समय के साथ इसे हल कर सकता है । जैसे कि वाइब्रेटर का उपयोग करना पुरुषों और महिलाओं, दोनों में उत्तेजना और पूरी तरह यौन कार्य को बढ़ा सकता है । जो महिलाएं वाइब्रेटर का उपयोग करती हैं उन्होंने यौन क्रिया में सुधार किया है, जबकि पुरुषों ने नपुंसकता में सुधार का अनुभव किया है ।

प्रोस्टेट कैंसर 
जूरी इस बात से बाहर है कि क्या हस्तमैथुन प्रोस्टेट कैंसर के खतरे को बढ़ाता है या कम करता है । किसी भी निष्कर्ष पर पहुंचने से पहले शोधकर्ताओं को और अधिक अध्ययन करने की आवश्यकता है । एक हफ्ते में पांच बार से अधिक हस्तमैथुन करने वाले लोगों से ज्यादा प्रोस्टेट कैंसर की संभावना उन लोगों में अधिक है जिन्होंने अक्सर कम हस्तमैथुन करते हैं । शोधकर्ताओं ने अनुमान लगाया है कि कम जोखिम इसलिए था क्योंकि लगातार हस्तमैथुन करने से प्रोस्टेट ग्रंथि में कैंसर पैदा करने वाले एजेंटों के निर्माण में रोक लग जाती है । 

रोज़ाना के जीवन को बाधित करना 

कुछ दुर्लभ मामलों में, कुछ व्यक्ति अपनी इच्छा से अधिक हस्तमैथुन कर सकते हैं, जिसके यह परिणाम हो सकते हैं :
उन्हें काम, स्कूल या महत्वपूर्ण सामाजिक घटनाओं की याद आती है ।
किसी व्यक्ति के दैनिक कामकाज को बाधित करना ।
जिम्मेदारियों और रिश्तों को प्रभावित करते हैं ।

निष्कर्ष
यदि कोई सोचता है कि उनके हस्तमैथुन करने से शरीर पर नुकसान हो रहा है तो उन्हें डॉक्टर या सैक्सोलॉजिस्ट से बात करनी चाहिए । वैसे यह एक तथ्य है कि हस्तमैथुन का शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य पर कोई गलत प्रभाव नहीं पड़ता ।