मैं गुर्दे की बीमारी का मरीज हूँ? क्या मैं सेक्स कर सकता हूँ?

मैं गुर्दे की बीमारी का मरीज हूँ? क्या मैं सेक्स कर सकता हूँ?

आप जिस व्यक्ति से प्यार करते हैं, उसके साथ शारीरिक तौर पर रहना ज़रुरी है और यह हर किसी की जरूरत है।बहुत से लोग यह सोचते हैं कि स्वस्थ रहना केवल सेक्स करने के लिए आवश्यक है।
इसमें शामिल है कि आप अपने बारे में कैसा महसूस करते हैं, आप कितनी अच्छी तरह से लोगों से बात करते हैं, और आप किसी और के करीब आने के लिए कितने इच्छुक हैं। किडनी की बीमारी या किडनी फेलियर - हार्मोन, नव्ज़, एनर्जी लेवल और यहां तक कि दवा तक कई चीजें हैं जो आपकी सैक्सुएलिटी को प्रभावित कर सकती हैं, इसलिए सवाल पूछने या स्वास्थ्य सेवा से संबंधित लोगं से मदद लेने से कभी मत डरो । 

सेक्स में रुचि कम हो रही है ?

किडनी की बीमारी या किडनी फेल होने की वजह से सेक्स में आपकी रुचि बदल सकती है। सबसे पहले सेक्स को लेकर आपकी रुचि कम हो सकती है और यह इसलिए हो सकता है क्योंकि हमें अपनी बीमारी से लड़ने के लिए शारीरिक और भावनात्मक रुप से ऊर्जा की आवश्यकता होती है। लेकिन समय के साथआपकी रुचि सामान्य हो सकती है।

कुछ लोग अपने लिंग को अधिक देर तक खड़ा रखने में असमर्थ होते हैं और किडनी फेल होने वाले मामलों में यह बेहद आम है । यह किडनी की दवाओं के साइड इफेक्ट से हो सकता है । खून में गंदे या ज़हरीले पदार्थों का निर्माण होता है जो डायलिसिस या दूसरे तरीकों से हटाया नहीं जा सकता है।इनमें से कई समस्याओं का इलाज किया जा सकता है, इसलिए सवाल पूछने या मदद लेने से कतराना नहीं चाहिए । 

कभी-कभी भावनाएँ भी शरीरमें सेक्स प्रक्रिया को प्रभावित कर सकती हैं।इसमें तनाव, डिप्रैशन, विकलांगता, मृत्यु का डर और शादी की समस्याएं जैसे बहुत कुछ शामिल हैं। कुछ लोगों में, किडनी की बीमारी होने से शारीरिक परिवर्तन हो सकते हैं जो उन्हें कम आकर्षक महसूस करा सकते हैं। इससे सैक्स करने को लेकर रुचि भी प्रभावित हो सकती है । यहां तक की कपल्स की सेक्स लाइफ भी बदल रही है, उन्हें अपने डॉक्टर से बात करनी चाहिए।इनमें से कई समस्याओं का इलाज सफलतापूर्वक किया जा सकता है।

क्या सैक्स किडनी के रोगियों के लिए सुरक्षित है ?

कुछ रोगियों और उनके पार्टनर को यह चिंता हो सकती है कि सेक्स करने से रोगी की मृत्यु हो सकती है या डायलिसिस के इस्तेमाल और किडनी ट्रांसप्लांट को नुकसान पहुंचा सकती है। अगर सेक्स रोगी पर किसी प्रकार को कोई दबाव, चिंता या तनाव नहीं डालता है, तो इससे नुकसान नहीं होगा। यह डर लोगों के सेक्स गतिविधि न करने का कारण बन सकता है। किडनी ट्रांसप्लांट के बादतब तक सेक्स के लिए इंतजार करना ज़रुरी है जब तक टांकों के निशान ठीक नहीं हो जाते और अगर एक बार डॉक्टर ने कह दिया कि सेक्स गतिविधि कर सकते हैं तो उसके बाद सेक्स करने को लेकर ट्रांसप्लांट किडनी के नुकसान के बारे में चिंता करना बेकार है।

कुछ लोगों के लिए सेक्स मुमकिन नहीं हो पाता क्यूंकि उन्हें लगता है कि सेक्स उतना ज़रुरी नहीं है जितना पहले था । लेकिन गले लगना,चुंबन लेना जैसी क्रियाएँ सेक्स में शामिल नहीं होती लेकिन उस भावना को जन्म देती है । इसके लिए सेक्स स्पेशलिस्ट सेक्स के दूसरे थेरेपी का परामर्श दे सकते हैं । 

यदि समस्या मनोवैज्ञानिक है तो क्या किया जा सकता है?

किडनी की बीमारी और किडनी फेल होने जैसी गंभीर बीमारी का सामना करने पर चिंता या उदास महसूस करना सामान्य है।ये भावनाएं सेक्स के साथ-साथ कई दूसरे कामों में ऊर्जा की कमी और कम रुचि पैदा कर सकती हैं। यदि किसी तरह की सेक्स समस्या होती है, तो शर्मिंदगी और हीन भावना हमेशा मन में रहती है।डर है कि सेक्स समस्या फिर से होगी और इसकी वजह से व्यक्ति सेक्स से दूर हो सकता है।रिलैक्सेशन एक्सरसाइज इन उम्मीदों को कंट्रोल करने में मदद कर सकती हैं।रोज़ाना शारीरिक व्यायाम मन को बिज़ी रखने में मदद करते है और शरीर के आकार में सुधार कर सकते हैं। यदि सेक्स समस्याएं जारी रहती हैं, तो सेक्स थेरेपी मदद कर सकती है, भले ही समस्या मनोवैज्ञानिक हो, शारीरिक समस्याओं के लिए बताये गए कुछ उपचार मददगार हो सकते हैं।

क्या सेक्स थेरेपी मदद कर सकती है?

सेक्स थेरेपी कपल्स और व्यक्तियों की सेक्स समस्याओं से संबंधित है। सेक्स थेरेपी में पहला कदम व्यक्ति या कपल के लिए सेक्स की शिक्षा हो सकता है। डॉक्टर घर पर की जाने वाली गतिविधियों के बारे में परामर्श दे सकता है।इनमें संचार अभ्यास, तनाव कम करने की गतिविधियाँऔर सुखद स्पर्श देने और प्राप्त करने के कौशल में सुधार के तरीके शामिल हैं। सेक्स थेरेपी कम सेक्स रुचि, चरम सुख तक पहुंचने में समस्या, सेक्स करते समय दर्दऔर दूसरी परेशानियों को दूर करने में मदद कर सकती है। यह थेरेपी सेक्स करने पर पुरानी बीमारी के असर के माध्यम से एक व्यक्ति को काम करने में भी मदद कर सकती है।

किडनी के मरीज खुद की मदद कैसे कर सकते हैं?

किडनी की बीमारी और उसके उपचार के बारे में जानने में एक्टिव रहें, संतुलित आहार का पालन करें, सभी दवाओं को ठीक से लें और किसी भी तरह के साइड इफेक्ट के बारे में डॉक्टर को बताएं, इसके अलावा मांसपेशियों की टोन, शक्ति की मदद करने के लिए एक व्यायाम प्रोग्राम के लिए पूछें।यदि आवश्यक हो तो आपका डॉक्टर वजन बढ़ाने या किसी कार्यक्रम का सुझाव दे सकते हैं । एक स्वस्थ जीवन शैली अपनाएं । ऐसी चीज़ों से दूर रहें जो आपकी सेक्स क्रिया को प्रभावित कर सकती हैं, जैसे - बहुत अधिक शराब पीना और धूम्रपान करना आदि ।

क्या बच्चे पैदा करने में कोई समस्या है?

स्पर्म यानि वीर्य उत्पादन किडनी की बीमारी से प्रभावित नहीं होता लेकिन हां, गर्भाश्य में जटिलताएं हो सकती हैं और गर्भावस्था शरीर पर बहुत तनाव डाल सकती है । अगर आपको किडनी की बीमारी या आपकी किडनी फेल है, तो यह आपको और आपके अजन्मे बच्चे के स्वास्थ्य को खतरे में डालने के लिए काफी है । यह किडनी की बीमारी को और भी बदतर बना सकता है।यदि आप गर्भवती होने की सोच रही हैं, तो आपको अपने डॉक्टर से सावधानी से चर्चा करनी चाहिए।

किडनी की बीमारी यूं तो सेक्स जीवन पर प्रभाव नहीं डालती परंतु यदि आप सामान्य लोगों की तरह जीवनशैली अपनाएंगे तो आपको समस्या हो सकती है, इसलिए जागरुक रहने की आवश्यकता है । तनाव न लें और जितना हो सके सावधानी बरतें ।

Source 
Https://Accelresearchsites.Com/Kidney-Disease-Affects-Sexual-Health/