10.10.236.6

कैसे करें घर पर कोविड 19 के इलाज की तैयारी ?

कैसे करें घर पर कोविड 19 के इलाज की तैयारी ?

कोविड 19 वायरस बढ़ते-बढ़ते आज पूरी दुनिया पर हावी हो गया है । इस वायरस ने अमेरिका जैसे देश में भी अब तक 1 लाख जानें ले ली हैं और भारत में अब इसका प्रकोप बढ़ता जा रहा है । इस समय भारत में कोरोना के मामले 2 लाख पहुंचने वाले हैं और अब भारत के सामने चुनौती यह है कि कोविड 19 रोगियों के लिए बिस्तर उपलब्ध नहीं हैं तो ऐसे में किया क्या जाए । 

इस समस्या के समाधान के रुप में यह बात निकलकर आयी है कि कोविड 19 के 70 से 80 प्रतिशत मामले हल्के लक्षणों वाले होते हैं, यानि अगर मरीज को घर पर क्वारंटिन करके देखभाल में रखा जाए, तो वह ठीक हो सकता है । परंतु वह कौन-सी सावधानियां हैं, जिनके पालन से रोगी और उसके घरवालों को बिना किसी खतरे के क्वारंटिन किया जा सकता है या ठीक रखा जा सकता है ।
हार्ट केयर फाउंडेश ऑफ इंडिया के अध्यक्ष डॉ. के.के.अग्रवाल ने बताया है कि कोरोना के इस दौर में हर घर में वह कौन से टूल्स होने चाहिए, जिनसे व्यक्ति स्वंय को और घर के दूसरे लोगों को इस बीमारी से बचा सकता है –

हर घर में हो ऑक्सीज़न मीटर
डॉ. अग्रवाल ने कहा कि आज हर घर में एक ऑक्सीज़न मीटर जिसे कोविड मीटर भी कहते हैं, होना अनिवार्य है । इस मीटर से यह पता लगाने में आसानी होती है कि शरीर में ऑक्सीज़न की मात्रा कम तो नहीं हो रही है । इसके साथ ही ऑक्सीज़न कंसल्टट्रेटर की भूमिका भी बहुत अहम है, इसलिए वह भी उपलब्ध होना चाहिए । ऑक्सीज़न कंसल्टट्रेर व्यक्ति को 5 लीटर प्रति मिनट के हिसाब से ऑक्सीजन देने का काम करता है । अगर यह दो चीजें आपके पास हैं तो आप घर पर ही कोरोना इमरजैंसी को संभाल सकते हो । 

मरीज़ अधिक और बिस्तर कम 
कोरोना के इस दौर मे स्थिति अब और विकट दिख रही हैं । धीरे-धीरे फैलते हुए कोरोना के भारत में लगभग 2 लाख मरीज़ होने वाले हैं और अभी यह आंकड़ा लगातार बढ़ता ही जा रहा है । ऐसे में अब रोगियों के सामने बिस्तर मिलना एक बड़ी चुनौती बन गया है इसलिए डॉक्टर का कहना है कि बेहतर यह है कि रोगी खुद को घर पर ही क्वारंटिन करे और ज़रुरी अहतियात बरतते रहे क्योंकि ऐसे मामले जिनकी हालत नाज़ुक है, उन्हें भी अब बिस्तर मिलने में दिक्कत हो रही है ।  

अब इमरजैंसी में बिस्तर नहीं मिलेगा
डॉ. अग्रवाल ने यह बात साफ कर दी है कि न सिर्फ दिल्ली बल्कि किसी भी राज्य के अस्पताल में आपको बिस्तर नहीं मिलेगा, क्योंकि बिस्तर उपलब्ध ही नहीं हैं । यदि आपके परिवार में किसी को कोविड 19 की समस्या है तो आप उसे लेकर घूमते रहेंगे लेकिन आपको बिस्तर नहीं मिलेगा और अगर आपको 4 से 5 घंटे के भीतर आइसोलेशन या क्वारंटिन की सुविधा न दी गई तो हालत बहुत पेचीदा हो जाएगी । 

इसलिए आज हर घर में ऑक्सीजन का बंदोबस्त होना ही चाहिए । अगर एक व्यक्ति ये नहीं कर सकता तो सभी घरवाले मिलकर इसका इंतेजाम करें या आर.डब्लू,ए इसका इंतजाम करे । आज किसी भी हाल में हर घर में ऑक्सीजन कंसल्टट्रेटर होना अनिवार्य है । आपको जब तक बिस्तर न मिले तब तक 5 लीटर ऑक्सीजन आप खुद को दे सकें । 

अगर घर के अंदर ऑक्सीजन मीटर और कंसल्टट्रेटर का इंतजाम कर लेते हैं तो महामारी की इस त्रासदी से खुद को बचा सकते हैं । कोरोना वायरस को लेकर अब सरकारें भी मजबूर नज़र आ रही हैं और अस्पताल भी बेबस दिख रहे हैं, इसलिए बेहतर यही है इस समय हर व्यक्ति यह कोशिश करे कि वह कैसे खुद को प्रभावित होने से बचा सकता है ।