जानिए क्या है कोरोनावायरस, लक्षण और बचाव

जानिए क्या है कोरोनावायरस, लक्षण और बचाव

Covid Update 25 January 2022

24 घंटे मे 2 लाख 55 हजार 874 नए कोरोना केस, 614 मौते और 2 लाख 67 हजार 753 रिकवरी केस दर्ज हुए 

देश भर में बीते महीने से ही कोरोना के मामलों में लगातार बढ़ोतरी देखि जा रही है लेकिन हाल के कुछ दिनों से ही अब मामलों में गिरावट देखि जा रही है। इसी बीच केन्द्रीय सरकारी सूत्रों ने सोमवार को कहा कि देश में कोविड -19 मामलों में 15 फरवरी तक गिरावट आने की संभावना है, जबकि कुछ राज्यों और मेट्रो शहरों में संक्रमण पहले ही कम होने लगा है। न्यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार, सूत्रों ने कहा कि देश में वैक्सीनेशन अभियान ने तीसरी लहर के प्रभाव को कम कर दिया है, क्योंकि देश में 74 प्रतिशत वयस्क आबादी को पूरी तरह से वैक्सीन लग चुकी है। उन्होंने कहा कि सरकार कोविड की स्थिति पर राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के साथ समन्वय कर रही है। 

मीडिया में छापी खबर के अनुसार रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में 15 फरवरी तक कोविड के मामलों में कमी आएगी। एएनआई ने सरकारी सूत्रों के हवाले से बताया कि कुछ राज्यों में पहले से ही हालात सुधरते हुए दिखाई दे रहे हैं। सूत्रों ने कहा कि देश में 15 फरवरी तक कोविड के मामलों में कमी आएगी। कुछ राज्यों और मेट्रो शहरों में मामले कम होने लगे हैं और स्थिर होने लगे हैं। सूत्रों ने कहा कि कोरोना वैक्सीनेशन ने तीसरी लहर के प्रभाव को कम कर दिया है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य मंत्रालय राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के साथ समन्वय कर रहा है। 74 फीसदी वयस्क आबादी पूरी तरह से वैक्सीनेटेड है। 

इस बीच, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के महानिदेशक टेड्रोस एडनॉम घेब्येयियस ने सोमवार को कहा कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय अगर व्यापक उपाय करे तो 2022 में कोरोना महामारी को समाप्त कर सकता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन प्रमुख ने कहा कि इस तरह की आपात स्थितियों को रोकने के लिए महामारी से सबक सीखने और नए समाधान विकसित करने की आवश्यकता है। इसके लिए तब तक इंतजार नहीं करना चाहिए, जब तक कि महामारी खत्म न हो जाए।

देश भर में लगातार बढ़ रहा है कोरोना का कहर 

जनवरी से ही देश भर में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं हर एडिन एक नया रिकॉर्ड बन रहा है और पुराने रिकॉर्ड टूट रहे हैं। लेकिन बीते दो दिनों से कोरोना के मामलों में काफी गिरावट देखि जा रही है, जिससे अब यह लगने लग गया है कि जल्द ही कोरोना के मामलें काबू में आने लग जाएँगे। वहीं, कल आई रिपोर्ट के अनुसार फरवरी के मध्य से ही कोरोना के मामलों में भरी गिरावट देखि जाने लग जायगी। 

आज मंगलवार सुबह 25 जनवरी 2022 को केंद्र सरकार के अनुसार बीते 24 घंटों में भारत में 2 लाख 55 हजार 874 कोरोना के नए मामले दर्ज किये गये हैं। आज जो मामले सामने आए वह कल के मुकाबले 16।4 प्रतिशत के गिरावट के साथ सामने आए है, वहीं सोमवार को आए आए मामलों में मामूली गिरावट देखि गई थी। वहीं अगर मौतों के बारे में बात की जाए तो बीते 24 घंटे में बस 614 लोगों की कोरोना संक्रमण की वजह से मौत हुई है। यहाँ ध्यान देने वाली बात यह है कि मरने वालों का आकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है। आज सुबह मौतों के आए इस आकड़े के बाद कोरोना से मौत होने के बाद मरने वालों का आकड़ा  4 लाख 90 हजार 462 तक पहुँच गया है, देश में फ़िलहाल मृत्यु दर 1.23 फीसदी से नीचे हैं।  

कोरोना के मामले भले ही तेजी से क्यों न बढ़ रहे हों, लेकिन राहत की बात यह है कि देश भर में कोरोना से ठीक होने वालों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। आज सुबह सोमवार केंद्र सरकार द्वारा आए ताज़ा आकड़ों के अनुसार बीते 24 घंटों में 2 लाख 67 हजार 753 लोगों ने कोरोना को मात दी है और अपने घर वापिस गये हैं। बीते 24 घंटों में 2 लाख 67 हजार 753 लोगो के कोरोना को मात देकर ठीक होने वालों कि संख्या 3 करोड़ 68 लाख 04 हज़ार 145 तक पहुँच गई है। वहीं, सक्रिय मामलों की बात करें तो देश में अभी 22 लाख 36 हज़ार 842 लोगों का इलाज चल रहा है। आज सुबह मंगलवार को ताजा आए कोरोना संक्रमितों के चलते अब तक कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 3 करोड़ 97 लाख 99 हजार 202 तक पहुँच गई है। 

एक्टिव केस, कुल मामलों के दो प्रतिशत से कम हैं, यह मौजूदा वक्त में 5.62 प्रतिशत है जो की लगातार बढ़ते जा रहे हैं। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रायल के अनुसार मौजूदा समय में रिवकरी रेट 93.15 प्रतिशत है, आपको बता दें ध्यान देने वाली बात यह है कि लगातार कुछ दिनों से रिकवरी रेट घट रहा है, जो कि चिंता का विषय है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रायल के अनुसार साप्ताहिक सकारात्मकता दर 17.17 प्रतिशत दर्ज की गई है। वहीं बात करें दैनिक सकारात्मक दर की तो वो फ़िलहाल 15.52 प्रतिशत है। 

राष्ट्रव्यापी टीकाकरण मुहिम के तहत अभी तक कोरोना वायरस रोधी टीकों की 162 करोड़ 92 लाख 09 हज़ार 308 लोगो को कोरोना कि खुराक दी जा चुकी हैं। वहीं बीते 24 घंटे में 62 लाख 29 हजार 956 लोगो को कोरोना वैक्सीन की डोज़ दी गई। मौजूदा आकड़ों में पहली और दूसरी डोज दोनों शामिल है, कोरोना टीकों के यह आकड़ें केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी किये गये हैं। अगर कल हुई कोरोना जांचों के बारे में बात करें तो 16,49,108 कोरोना जांच की गई जिसके बाद कुल जांचों का आकड़ा बढ़कर 71,88,02,433 तक पहुँच गया है।


‘ओमीक्रोन’ भारत में कितना खतरनाक, वैक्सीन कितनी असरदार, सब कुछ जानिए

Corona 25 January 2022 Headlines Update 

  1. अंडमान एवं निकोबार द्वीपसमूह में पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के 86 नए मामले सामने आने के साथ ही केन्द्र शासित प्रदेश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 9,452 हो गई। इस अवधि में 91 लोग संक्रमण से ठीक होकर अपने घर भी वापिस गये हैं। केन्द्र शासित प्रदेश में अभी 598 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है, जबकि 8,725 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं। 

  2. पंजाब में सोमवार को कोविड-19 के 5,778 नये मामले सामने आने के साथ ही राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 7,19,142 हो गई है। वहीं, संक्रमण से 39 और मरीजों की मौत होने से मृतकों की तादाद 17,023 पर पहुंच गयी। पंजाब में फ़िलहाल चुनाव चल रहे हैं तो यहाँ अभी मामलों में बढ़ोतरी के आसार लगे हुए हैं। 

  3. हरियाणा में सोमवार को कोविड-19 के 6,007 नये मामले सामने आने के साथ ही राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 9,14,826 हो गई है। राज्य में इस दौरान संक्रमण से 17 और मरीजों की मौत होने से मृतकों की तादाद 10,194 पर पहुंच गयी।  

  4. गुजरात में कोरोना के मामलों में लगातार कमी देखि जा रही है जो कि आज फिर देखि गई है। राज्य सरकार के स्वास्थ्य मंत्री के अनुसार राज्य में बीते 24 घंटे क भीतर कोरोना के 13,805 नये मामले सामने आये लेकिन संक्रमण से 25 और मरीजों की मौत हो गई, जो हाल के दिनों में सबसे अधिक है। गुजरात में कोविड-19 के 13,805 नये मामले सामने आने से राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या बढकर 10,76,360 हो गई। वहीं मृतक संख्या बढ़कर 10,274 हो गई।  

  5. उत्तराखंड में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 3,064 नए मामले सामने आए। इस दौरान 11 लोगों की कोरोना से मौत हुई और 2,985 लोग डिस्चार्ज हुए। वहां पर कुल सक्रिय मामलों की  संख्या 31,280 है और पॉजिटिविटी रेट 11.76% है। 

  6. असम में पिछले 24 घंटों में कोविड के 5902 नए मामले दर्ज किये गये। जिसमें से 5625 लोग ठीक हुए और 18 लोगों की मौत हो गई। इस समय कोविड के कुल सक्रिय मामलों की संख्या 44,075 है। 

  7. जम्मू-कश्मीर में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 5,394 नये मामले सामने आये हैं। जिसमें जम्मू से 2045 और कश्मीर से 3,349 मामले आये हैं। इसमें 8 लोगों की मृत्यु हुई है। वर्तमान में प्रदेश में  44,609 सक्रिय मामले हैं। 

  8. कोरोनावायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच केंद्र सरकार ने इस बात के संकेत दे दिए हैं कि ओमिक्रॉन वैरिएंट की वजह से देश में कोविड संक्रमण कम्युनिटी ट्रांसमिशन के स्तर पर आ चुका है। सरकार द्वारा जारी आंकड़ों के विश्लेषण से पता चलता है कि कोविड संक्रमण की रफ्तार औसतन प्रतिदिन 13 जिलों में 10 फीसदी वीकली पॉजिटिविटी रेट से ऊपर हो रहा है।

  9. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने कहा है कि राजधनी में अब कोरोना मामलों में भरी गिरावट देखि जा रही है, जिसकी वजह से अब राजधानी में जल्द ही पाबन्दिया हटाई जायगी। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि पिछले हफ़्ते मुझसे कुछ व्यापारी मिले और ऑड इवन/वीकेंड कर्फ़्यू हटाने की मांग की। उप राज्यपाल को प्रस्ताव भेजे हैं, लेकिन उन्होंने प्रस्ताव नहीं माने। LG साहब बहुत अच्छे हैं उन्हें आपकी सेहत की चिंता है। हम और LG साहब मिलकर जल्द से जल्द पाबंदियां हटाएंगे।  

  10. पूर्वी दिल्ली से लोकसभा सदस्य गौतम गंभीर ने मंगलवार को कहा कि उन्होंने सीओवीआईडी ​​​​-19 के लिए सकारात्मक परीक्षण किया है और हल्के लक्षण हैं। “हल्के लक्षणों का अनुभव करने के बाद, मैंने आज कोविड के लिए सकारात्मक परीक्षण किया। मेरे संपर्क में आने वाले सभी लोगों से अनुरोध है कि वे अपना परीक्षण करवाएं, ”क्रिकेटर से राजनेता बने। पिछले साल नवंबर में, परिवार के एक सदस्य के वायरस के लिए सकारात्मक परीक्षण के बाद गंभीर ने खुद को घर में अलग कर लिया था।


वैक्सीन हैडलाइन 25 January 2022 :-

बीते 24 घंटों में कुल टीकाकरण –  62,29,956

एहतियाती खुराक (Booster Dose) – 88,02,178

15-18 आयु वर्ग कुल टीकाकरण – 4,27,23,464 

देश में कुल कोविड टीकाकरण –  1,62,92,09,308

  1. दिल्ली में गणतंत्र दिवस के मौके पर एक कार्यक्रम में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपने संबोधन में राजधानी की जनता को संबोधित करते हु कहा कि दिल्ली में आज 10% कोरोना संक्रमण दर दर्ज होगी। 15 जनवरी को दिल्ली में अधिकतम 30% संक्रमण दर दर्ज हुई थी। पिछले 10 दिनों में संक्रमण दर 20% तक घट गई है। यह सब टीकाकरण की रफ्तार बढ़ाने की वजह से हुआ है। दिल्ली में 100% लोगों को पहला डोज़ और 82% लोगों को दोनों डोज़ वैक्सीन के लग चुके हैं।  

  2. पश्चिम बंगाल के हुगली में 11वीं कक्षा की छात्रा की कोविड-19 वैक्सीन लेने के बाद तबीयत बिगड़ गई। छात्रा के परिजन का का आरोप है कि वैक्सीन के बाद खून में इन्फेक्शन (Blood infection) हो गया, जिसकी वजह से छात्रा की मौत हो गई। वहीं मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी ने खून में इन्फेक्शन की बात स्वीकार की है।  जानकारी के अनुसार, चूचूड़ा के शिक्षा मंदिर स्कूल की 11वीं कक्षा की छात्रा 18 वर्षीय अनुषिका दे की स्कूल में कोविड-19 के वैक्सीन लेने के बाद तबीयत बिगड़ गई। परिजन का आरोप है कि वैक्सीनेशन के बाद छात्रा के खून में इन्फेक्शन हो गया, जिसकी वजह से मौत हो गई।  

  3. कोरोना वायरस के बढ़ते केसों के चलते दिल्ली के रेस्टोरेंट्स में बैठकर खाना खाने की अनुमति नहीं है। हालांकि, दिल्ली में पिछले हफ्ते की तुलना में केस घटने लगे हैं। ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि जल्द प्रतिबंध हट सकते हैं। हालांकि, रेस्टोरेंट्स मालिकों ने मन बना लिया है कि वह ग्राहकों के लिए वैक्सीन ग्राहकों के लिए वैक्सीन सर्टिफिकेट अनिवार्य करेंगे।


कैसे करें घर पर कोविड 19 के इलाज की तैयारी ?


कोविड-19 के लक्षण-


ओमिक्रोन के लक्षण

सबसे के आम लक्षण

·         दस्त

·         सिरदर्द

·         बदन दर्द

·         गले में खराश

·         लाल आँखें होना

·         त्वचा पर दाने या त्वचा फटना

·         हाथ-पैरों की उंगलियों का रंग बदलना।

  

ओमिक्रोन के गंभीर लक्षण

·         सांस लेने में तकलीफ होना

·         सांस उखड़ कर आना

·         बोलने या चलने में दिक्कत

·         भ्रम होना या सीने में दर्द।


कोविड के शुरुआती लक्षण है -

·          

·         हल्का बुखार

·         सर दर्द

·         सर्दी

·         खांसी


कोविड के गम्भीर लक्षण है - 

·         सांस लेने मे दिक्कत या सांस फलना

·         ओक्सिजन का कम होना 

·         स्वाद ना आना

·         सीने मे दर्द होना

·         कमजोरी महसूस होना


कम दिखने वाले लक्षण/नए लक्षण -

·         आंखो का लाल या गुलाबी होना

·         सुनने मे परेशानी

·         जीभ पर जलन / कोविड टंग 

·         पेट या आंत मे परेशानी होना


कोविड का गम्भीर कोम्प्लिकेसन -


बाल झड़ने की समस्या 

कोरोना से ठीक हुए लोगो मे बाल झड़ने की समस्या सामने आयी है। डॉक्टर के मुताबिक, 100 मे से 25 मरीजो मे यह समस्या हो रही है। बाल झड़ने की परेशानी मध्यम या गंभीर मरीजो मे पायी जा रही है।डॉक्टर के अनुसार बायोटिन विटामिन कम होने के कारण यह हो रहा है। यह समस्या के कारण छतीसगढ के सरकारी एवं निजी अस्पतालों मरीज आ रहे और रायपुर मे ऐसे केस सामने आए है।


कमर और पैर दर्द

कोरोना से ठीक हुए लोगो मे कई साइड इफेक्ट देखे जा रहे, जिसमे सबसे आम कमर दर्द और पैरों मे खिचाव है।  डॉक्टर ऐसे मरीजो को विटामिन डी और सी खाने की सलाह दे रहे।

 

टयूबरकुलोसिस (टी ।बी)

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने शनिवार को सभी कोरोना सकारात्मक मरीजो के लिए टी।बी जांच और सभी टीबी मरीजो के लिए कोरोना जांच की सिफारिश की।कोरोना किसी भी संक्रमित व्यक्ति को टयूबरकुलोसिस के लिए सवेदंशील बना सकता है, हालांकि अभी इसका कोई पक्का सबूत नही है की ये वायरल बिमारी से फैलता है।


एवस्कुलर नेक्रोसिस

एवस्कुलर नेक्रोसिस, या हड्डी के टीसु की मृत्यु, दो महीने पहले म्यूकोर्मिकोसिस या ब्लैक फन्गस के प्रकोप के बाद अब पोस्ट कोविड रोगियों में अगली दुर्बल करने वाली स्थिति हो सकती है।अब तक इसके 3 मरीज मुंबई मे मिल चुके है और डॉक्टर को डर है की ब्लैक फन्गस के तरह इसका भी आउटब्रेक ना हो। ये भी स्टेरॉईड का साइड इफेक्ट के कारण हो रहा है।


रेस्पाईरेटरी प्रॉब्लम

रेस्पाईरेटरी प्रॉब्लम ज्यादतर कोविड मरीज को हो रही है जिसमे ठीक से सांस ना आना, सीने मे दर्द रहना शामिल है।कोरोना का सबसे ज्यादा प्रभाव रेस्पाईरेटरी पार्ट पर ही पड़ता है, जिसके कारण कई परेशानी भी हो रही है जैसे ऐक्यूट रेस्पाईरेटरी फेलियर, ऐक्यूट कर्डिक इन्जूरी, इत्यादी।


फ्लारेसीस

फ्लारेसीस भी कोरोना का कोम्प्लिकेसन है जिसमे पैर काफी हद तक फुल जाते है।इसे हाथी पैर भी कहते है। इसमे चलने मे परेशानी होता है क्योंकि पैर भारी हो जाता है।


ब्लैक फंगस

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने गुरुवार को कहा, देश में अब तक म्यूकोर्मिकोसिस या 'ब्लैक फंगस' के 45,374 मामले सामने आए हैं। जबकि देशभर में इस बीमारी से अब तक 4,332 मरीजों की मौत हो चुकी है।ब्लैक फंगस को विज्ञान भाषा में म्यूकोरमीकोसिस कहते है, इस बीमारी से मरीज़ो की तकलीफे बढ़ गयी थी। ये स्टेरॉइड का साइड इफेक्ट के करण हो रहा है। हालाकि अब तो इसके केस देश मे काफी हद तक कम हो गए है।ये फंगस मिटटी, खाद, सड़े फल या सब्जियों में पनपता है जो की हवा और इंसान के बलगम में भी पाया जा सकता है।ये नाक से, मिटटी के संपर्क या खून के ज़रिये शरीर में दाखिल हो सकता है और त्वचा, दिमाग, और फेफड़ो को निशाना बना सकता है , इसमें मृत्यु दर 50 प्रतिशत तक हो सकती है। इसके इलाज में मरीज़ो के आँख तक निकलने की नवबत आ सकती है। 

 

 ICMR ने सुझाव दिया है की जिन कोविद पेशेंट को डायबिटीज है और जिन्होंने स्टेरॉयड के ओवरडोज़ लिए है वो अपना खास ख्याल रखे और किसी भी तरह की परेशानी पर डॉक्टर से संपर्क करे। 

ब्लैक फंगस को ठीक करने वाली दवा लिपोसोमल अम्फोटेरिसिन बी, जो की एंटीफंगल ड्रग है। इसके आलावा येलो फंगस, एस्परगिलोसिस फंगस, और वाइट फंगस भी स्टेरॉइड का साइड इफेक्ट है, जो दो से तीन महिने पहले काफी ऐक्टिव था।अब राहत की बात है इन फंगस के मामले काफी हद तक कण्ट्रोल मे आ गए है। कोरोना के खतरे के बावजूद देश मे अभी भी लापरवाही की कई तस्वीर सामने आ रही जिसमे लोग न मास्क पहने नजर आ रहे और न ही सोशल डिस्टन्स का पालन कर रहे, एक्सपर्ट और डॉक्टर का कहना है की अगर ऐसा ही रहा तो तीसरी लहर का सामना जल्द करना पड़ेगा ।

 


रेफरेंस लिंक -

1। https://bit।ly/2VJHgeH

2। https://bit।ly/3xH6Vlo

3। https://bit।ly/2XfTyMx


coronavirus
Dr. KK Aggarwal

Recipient of Padma Shri, Vishwa Hindi Samman, National Science Communication Award and Dr B C Roy National Award, Dr Aggarwal is a physician, cardiologist, spiritual writer and motivational speaker. He was the Past President of the Indian Medical Association and President of Heart Care Foundation of India. He was also the Editor in Chief of the IJCP Group, Medtalks and eMediNexus

 More FAQs by Dr. KK Aggarwal