एक्टोपिक दिल की धड़कन क्या है? कारण, लक्षण और इलाज | What is Ectopic Heartbeat in Hindi

एक्टोपिक दिल की धड़कन क्या है? What is ectopic heartbeat?

अस्थानिक दिल यानि एक्टोपिक दिल की धड़कन एक प्रकार का अतालता (अनियमित दिल की धड़कन – arrhythmia) है। ऐसा तब होता है जब आपका दिल बहुत जल्दी सिकुड़ता (धड़कता) है। आपका दिल एक धड़कन छोड़ सकता है या ऐसा महसूस कर सकता है कि यह दौड़ रहा है या फड़फड़ा रहा है।

अधिकांश समय, एक एक्टोपिक दिल की धड़कन हानिरहित होती है और यह अंतर्निहित हृदय समस्या (underlying heart problem) या स्वास्थ्य स्थिति का परिणाम नहीं होती है। आपका दिल आमतौर पर ठीक से काम करता है, भले ही वह लय से बाहर धड़कता हो। बहुत से लोगों को एक्टोपिक दिल की धड़कन के लिए उपचार की आवश्यकता नहीं होती है।

ये अनियमित धड़कनें बहुत अधिक कैफीन, शराब या तनाव के कारण हो सकती हैं। अपने स्वास्थ्य सेवा प्रदाता को देखें यदि आपको अपने दिल की धड़कन के बारे में चिंता है, खासकर अगर आपको दिल की बीमारी है या आपका दिल अक्सर लय से धड़कता है।

एक्टोपिक दिल की धड़कन के प्रकार क्या हैं? What are the types of ectopic heartbeat?

एक्टोपिक दिल की धड़कन के दो मुख्य प्रकार हैं :-

1. समय से पहले आलिंद संकुचन (premature atrial contraction – PAC), जो आपके दिल के शीर्ष दो कक्षों (एट्रिया – atria) में असामान्य विद्युत संकेतों के परिणामस्वरूप होता है। हेल्थकेयर प्रदाता पीएसी को एट्रियल प्रीमेच्योर बीट्स (atrial premature beats) भी कहते हैं।

2. समय से पहले वेंट्रिकुलर संकुचन (premature ventricular contractions – PVC), जो आपके दिल के निचले दो कक्षों (निलय) से आने वाले असामान्य संकेतों के परिणामस्वरूप होता है। हेल्थकेयर प्रदाता पीवीसी को वेंट्रिकुलर प्रीमेच्योर बीट्स (ventricular premature beats) भी कहते हैं।

एक्टोपिक दिल की धड़कन किसे हो सकती है? Who can get an ectopic heartbeat?

वृद्ध लोगों में एक्टोपिक दिल की धड़कन अधिक आम होती है, लेकिन ये सभी उम्र के लोगों में हो सकती हैं। जिन बच्चों की एक्टोपिक दिल की धड़कन होती है, उनमें आमतौर पर पीएसी होता है। यदि आपके पास एक्टोपिक दिल की धड़कन होने की अधिक संभावना है :-

1. एक्टोपिक दिल की धड़कन का पारिवारिक इतिहास।

2. हृदय की स्थिति (जैसे हृदय रोग) या वाल्व रोग सहित एक संरचनात्मक समस्या।

3. पूर्व में दिल का दौरा पड़ा था।

अस्थानिक दिल की धड़कन कितनी आम हैं? How common are ectopic heartbeats?

एक्टोपिक दिल की धड़कन और दिल की धड़कन बहुत आम है। लगभग हर किसी के पास कभी-कभार PVC या PAC होता है, लेकिन हर कोई उन्हें महसूस नहीं करता।

एक्टोपिक दिल की धड़कन के क्या कारण हैं? What are the causes of ectopic heartbeat?

एक्टोपिक दिल की धड़कन निम्न का परिणाम हो सकते हैं :-

1. शराब और पेय जिनमें कैफीन होता है। उच्च वसा, चीनी या कार्बोहाइड्रेट वाले खाद्य पदार्थ भी कभी-कभी अनियमित दिल की धड़कन का कारण बन सकते हैं। बहुत से लोग खाने के बाद दिल की धड़कन का अनुभव करते हैं।

2. चिंता और तनाव।

3. निर्जलीकरण (dehydration)।

4. नशीली दवाओं का उपयोग, जिसमें नाक के डीकॉन्गेस्टेंट शामिल हैं जिनमें स्यूडोएफ़ेड्रिन होता है।

5. अतिरिक्त वजन और मोटापा। जो लोग अतिरिक्त वजन उठाते हैं उनमें असामान्य हृदय ताल और हृदय रोग का खतरा अधिक होता है।

6. रजोनिवृत्ति (menopause) के दौरान हार्मोनल परिवर्तन और गर्भावस्था के दौरान आपके शरीर में होने वाले परिवर्तन। गर्भावस्था के दौरान दिल की धड़कन बहुत आम है और आमतौर पर हानिरहित होती है।

7. धूम्रपान।

कम अक्सर, एक एक्टोपिक दिल की धड़कन दिल की समस्या या स्वास्थ्य की स्थिति का परिणाम होती है, जैसे -

1. अतालता, आलिंद फिब्रिलेशन (atrial fibrillation) और क्षिप्रहृदयता (tachycardia) यानि तेज़ हृदय गति।

2. हृदय रोग, कोरोनरी धमनी रोग (Coronary Artery Disease (CAD) और दिल की विफलता।

3. फेफड़े की स्थिति जैसे क्रॉनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज (chronic obstructive pulmonary disease – COPD)।

4. संरचनात्मक हृदय की समस्याएं (structural heart problems)।

एक्टोपिक दिल की धड़कन के लक्षण क्या हैं? What are the symptoms of ectopic heartbeat?

कुछ लोगों को एक्टोपिक दिल की धड़कन के किसी भी लक्षण का अनुभव नहीं होता है। जब वे लेटते हैं या सोने की कोशिश करते हैं तो अन्य लोगों को लक्षण महसूस होते हैं (रात में दिल की धड़कन)। आप महसूस कर सकते हैं :-

1. एक अतिरिक्त दिल की धड़कन, या जैसे कि आपका दिल एक धड़कन छोड़ देता है या एक पल के लिए रुक जाता है।

2. अनियमित हृदय गति, जैसे कि आपका हृदय तेज़ और धीमा हो रहा है।

3. आपकी छाती में तेज़ महसूस होना या स्पंदन (Flutter)।

4. तेजी से दिल की धड़कन।

एक्टोपिक दिल की धड़कन का निदान कैसे किया जाता है? How is ectopic heartbeat diagnosed?

आपका स्वास्थ्य सेवा प्रदाता आपके लक्षणों के बारे में पूछेगा और आपके दिल की सुनेगा। वे एक इलेक्ट्रोकार्डियोग्राम (ईकेजी या ईसीजी) (Electrocardiogram (EKG or ECG) नामक एक परीक्षण करेंगे। यह 15 मिनट का परीक्षण आपकी त्वचा से जुड़े सेंसर का उपयोग करके आपकी हृदय गति पर नज़र रखता है। आप यह परीक्षण अपने स्वास्थ्य सेवा प्रदाता के कार्यालय में करवाते हैं।

यदि EKG एक अनियमित दिल की धड़कन का पता नहीं लगाता है, तो आपका स्वास्थ्य सेवा प्रदाता होल्टर मॉनिटर की सिफारिश कर सकता है, जो एक प्रकार का एंबुलेटरी मॉनिटर (ambulatory monitor) है। यह पोर्टेबल डिवाइस किसी भी अनियमित दिल की धड़कन के साथ आपकी हृदय गति को रिकॉर्ड करता है। आप कितनी देर तक होल्टर पहनते हैं यह इस बात पर निर्भर करता है कि ये अनियमित धड़कनें कितनी बार होती हैं। इन्हें दो दिन या दो सप्ताह तक पहना जा सकता है।

एक्टोपिक दिल की धड़कन का इलाज कैसे करते हैं? How is ectopic heartbeat treated?

आपको एक्टोपिक दिल की धड़कन के लिए उपचार की आवश्यकता नहीं हो सकती है। अधिकांश पीवीसी और पीएसी हानिरहित हैं। आपका स्वास्थ्य सेवा प्रदाता जीवनशैली में बदलाव की सिफारिश करेगा, जैसे कि कैफीन और शराब से परहेज करना। आप अपने तनाव के स्तर को कम करने के लिए ध्यान, योग और अन्य विश्राम तकनीकों का भी प्रयास कर सकते हैं।

यदि एक अस्थानिक दिल की धड़कन अक्सर होती है और यह आपके दैनिक जीवन को प्रभावित कर रही है, तो आपका स्वास्थ्य सेवा प्रदाता बीटा-ब्लॉकर की सिफारिश कर सकता है। ये दवाएं आपकी हृदय गति को धीमा करती हैं और इसे अधिक नियमित बनाती हैं।

यदि कोई स्वास्थ्य स्थिति या अन्य स्वास्थ्य समस्या एक अस्थानिक दिल की धड़कन पैदा कर रही है, तो आपका स्वास्थ्य सेवा प्रदाता इस स्थिति का इलाज करेगा। उपचार कारण के आधार पर भिन्न होते हैं। उनमें अतालता दवाएं शामिल हो सकती हैं।

मैं एक्टोपिक दिल की धड़कन के अपने जोखिम को कैसे कम कर सकता/सकती हूँ? How can I reduce my risk of an ectopic heartbeat?

आप अस्थानिक दिल की धड़कन या अन्य प्रकार के अतालता को रोकने में सक्षम नहीं हो सकते हैं। लेकिन आप अपना जोखिम कम कर सकते हैं :-

1. कैफीन, शराब और ठंडी दवाओं से परहेज करना जो आपके दिल की धड़कन को बढ़ा सकते हैं।

2. यदि आप अतिरिक्त वजन उठाते हैं तो स्वस्थ वजन बनाए रखना।

3. चिंता और तनाव के स्तर का प्रबंधन।

4. खूब पानी पीकर हाइड्रेटेड रहना।

5. यदि आप धूम्रपान करते हैं तो धूम्रपान छोड़ने की योजना के बारे में अपने स्वास्थ्य सेवा प्रदाता से बात करें।

ध्यान दें, कोई भी दवा बिना डॉक्टर की सलाह के न लें। सेल्फ मेडिकेशन जानलेवा है और इससे गंभीर चिकित्सीय स्थितियां उत्पन्न हो सकती हैं।

Logo

Medtalks is India's fastest growing Healthcare Learning and Patient Education Platform designed and developed to help doctors and other medical professionals to cater educational and training needs and to discover, discuss and learn the latest and best practices across 100+ medical specialties. Also find India Healthcare Latest Health News & Updates on the India Healthcare at Medtalks