भारत में कोरोना वायरस - सब कुछ जानिए

भारत में कोरोना वायरस - सब कुछ जानिए

आज देश में प्रतिदिन लगभग 6 से 7 हजार मामले सामने आ रहे हैं, कोविड -19से इस समय सारी दुनिया लड़ रही है और भारत कोरोना वायरस की इस लड़ाई में खुद को जैसे-जैसे संभाले हुए है, परंतु कोविड -19 का कहर जारी है । हां, कुछ राज्यों में कोरोना वायरस के मामले कम हुए हैं, और वहां स्थिति नियंत्रण में हैं, लेकिन फिर भी संकट बहुत गहरा है ।

लगातार दो महीने के लॉकडाउन के बाद अब सरकार ने उन सभी सेवाओं को खोलने का निर्देश दे दिया है, जो बंद की गईं थी और साथ ही साथ लोगों को जागरुक रहकर जीने का सुझाव दिया है ।भारत में कोरोना वायरस की वर्तमान स्थिति के लिए डब्लूएचओ लगातार प्रयास कर रहा है ।

आज दुनिया का ऐसा कोई देश नहीं है, जो कोरोना वायरस से प्रभावित नहीं हुआ है और अभी भी यह वायरस बहुत तेजी से दुनियाभर में फैल रहा है । दुनिया भर के साइंटिस्ट इसके एंटीडोट बनाने की कोशिश में हैं लेकिन अभी इसमें कामयाबी नहीं मिली है। 

बात अगर भारत की करें तो अभी तक भारत कोरोना मरीजों की संख्या डेढ़ लाख पहुंच चुकी हैं । हर दिन 6 से 7 हजार मामले सामने आ रहे हैं । भारत का हर राज्य कोरोना वायरस की चपेट में है, लेकिन महाराष्ट्र, केरल, कर्नाटक, राजस्थान, दिल्ली, हरियाणा और पंजाब ऐसे राज्य हैं, जहां कोरोना वायरस से सबसे अधिक लोग संक्रमित हुए हैं ।

लॉकडाउन के बाद क्या कर रही है सरकार?

भारत सरकार ने कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए मार्च से पूरे देश में लॉकडाउन का एलान किया था, परंतु अब पूरे दो महीने बीत जाने के बाद केंद्र सरकार लॉकडाउन खोलने का मूड बना रही है क्योंकि अब न सिर्फ जान पर संकट है बल्कि अर्थव्यवस्था को भी पटरी पर लाना एक चुनौती है । आने वाली 7 जून को सरकार लॉकडाउन खोलने जा रही है और लॉकडाउन खोलने के साथ ही कईं चीजों पर कुछ पाबंदियां भी लगाएंगी और सरकार ने सभी से जागरुक रहने की बात की है ।

7 जून को सरकार लॉकडाउन खोलने का प्रयास करेगी, लेकिन अगर स्थिति लगातार भंयकर होती रही तो पूरी उम्मीद है कि फिर से लॉकडाउन किया जा सकता है, हालांकि अर्थव्यवस्था को संतुलित रखने के लिए सरकार ने शराब की बिक्री को हरी झंडी दी और यह प्रयोग काफी हद तक सफल भी हुआ लेकिन ऐसे हालात में ऐसा बार-बार करना ठीक नहीं है।

केंद्र और राज्य सरकारें अपनी क्षमता अनुसार ज्यादा से ज्यादा लोगों के कोरोना टेस्ट करवा रही हैं ताकि स्थिति पर समय रहते नियंत्रण पाया जा सके लेकिन कोविड -19 का संक्रमण बहुत तेजी से फैल रहा है और चूंकि भारत की आबादी बहुत है, तो सरकारों को स्थिति संभालने में दिक्कत हो रही है और विशेषकर ऐसे इलाकों में जहां आबादी इलाके से ज्यादा है ।

भारत सरकार ने क्या कदम उठाए हैं ?

भारत सरकार ने कोविड -19से लड़ने और बचाव करने हेतु कईं महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं :

10 मार्च 2020 से हर प्रकार की यात्राओं पर प्रतिबंध है ।

स्कूल, कॉलेज, सिनेमाहॉल और पब्लिक ट्रांसपोर्ट पूरी तरह बंद हैं ।

13 मार्च से सभी प्राइवेट और सरकारी दफ्तरों को बंद करने के निर्देश जारी किए गए ।

15 मार्च से कोरोना के मामलों में तेज़ी आने के बाद सबको क्वारंटिन रहने के लिए कहा गया ।

20 मार्च को राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों पर पूरी तरह से पाबंदी लगा दी गई ।

23 मार्च से पूरे भारत में लॉकडाउन का ऐलान कर दिया गया है ।

लॉकडाउन के बाद हर संदिग्ध की जांच की जा रही है ।

लोगों को क्वारंटिन किया जा रहा है, संक्रमित लोगों का इलाज चल रहा है ।

लॉकडाउन तीन बार बढ़ा दिया गया है और अगर स्थति नहीं सुधरी तो यह बढ़ता रहेगा ।

सरकार ने इस बीच कुछ महत्वपूर्ण क्षेत्रों को छूट दी है, जैसे कृषि, मतस्य पालन, शराब की फ्रैक्ट्रियां ।

सरकार ने कुछ निजी और सरकारी दफ्तरों को भी खोल दिया है ।

स्कैनिंग चल रही है और कोरोना संभावित लोगों का इलाज किया जा रहा है ।


भारत में कोरोना वायरस की ताज़ा अपडेट

कोरोना की जांच में लगे स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा है कि हर हफ्ते लगभग 20 से 25 हजार नए मामले सामने आ रहे हैं और अभी तक 5 हजार 600 लोग मारे जा चुके हैं, हालांकि यह आंकड़ा अभी भी बढ़ रहा है ।

कोरोना वायरस कैसे फैलता है ?

कोरोना वायरस फैलता है जब आप किसी ऐसे व्यक्ति के संपर्क में आते हो जो कोरोना पॉजिटिव हो और वो आपको स्पर्श करे या आप उसके बेहद समीप मौजूद हों, लेकिन कुछ और चीजें भी हैं जिनके द्वारा कोरोना फैल सकता है । जैसे भोजन से या किसी ऐसे मच्छर के काटने से जिसने कोरोना संक्रमित मरीज़ को काटा हो ।
इसके अलावा मांस, मछली या पशु उत्पादों का सेवन भी इस समय पर खतरा बन सकता है । यदि किसी कोरोना संक्रमित व्यक्ति ने किसी स्थान, किसी वस्तु को स्पर्श किया हो और आप भी उसे स्पर्श कर रहे हैं तो निश्चित तौर पर ये आपको भी हो सकता है।


कोरोना वायरस से खुद को कैसे बचाएं ?

इस समय कोरोना वायरस से निजात पाने के लिए कोई दवा या एंटीडोट उपलब्ध नहीं है, हालांकि तकनीकी चिकित्सा के अंदर कईं सारे टीके और विशेष उपचार मौजूद हैं, लेकिन कुछ सावधानियों का पालन करने से हम कोरोना वायरस से रोकथाम कर सकते हैं :
लॉकडाउन खत्म होने पर भी उसका पालन करते रहें, ज़रुरत पर ही घरों से बाहर निकलें ।
हाथों को बार-बार सैनिटाइज़र से साफ करते रहें ।
जब कभी कहीं बाहर से आएं तो हाथों को साबुन या हैंडवॉश से धोएं।
किसी से हाथ न मिलाएं, किसी के नज़दीक न जाएं, सोशल डिस्टेंसिंगका ध्यान रखें ।
अगर छींकें या खांसी आ रही है तो मास्क लगाना ज़रुरी है।
अगर छींकें और खांसी नहीं है तो मास्क न लगाएं ।
घर के अंदर सफ़ाई का विशेष ध्यान रखें ।

Https://Www.Who.Int/India/Emergencies/Coronavirus-Disease-(Covid-19)/India-Situation-Report

coronavirus