कोरोना का कहर- कोरोना वायरस लेटेस्ट न्यूज़

कोरोना का कहर- कोरोना वायरस लेटेस्ट न्यूज़

यह उच्च संक्रमण और कम मृत्यु दर के साथ होने वाला एक प्रकार का वायरल कोरोना वायरस है । WHO के अनुसार चीन में निमोनिया का नाम बदलकर COVID-19 कर दिया गया ताकि किसी व्यक्ति, स्थान या देश से NME को न जोड़ा जाए । 

क्या यह महामारी के स्थिति में है ?

WHO और CDC के अनुसार महामारी की घोषणा की संभावना है । WHO का कहना है कि इस वायरस का प्रकोप बढ़ता जा रहा है, दुनियाभर में फैल सकता है और सचमुच दरवाज़े पर दस्तक दे रहा है।

21 फरवरी को CDC ने कहा कि यह महामारी का अलर्ट और गंभीर सार्वजनिक खतरा है । 

किसने कहा – हम ऐसे मामलों की संख्या के बारे में चिंतित हैं जिनके पास महामारी का कोई स्पष्ट आकंड़ा या लिंक नहीं है । 

जिन इलाकों में फैला है : सिंगापुर, दक्षिण कोरिया, ताइवान, वियतनाम, हांककांग और जापान में केसों की पहचान की गई है लेकिन यह पता नहीं चल पाया है कि संक्रमंण का स्त्रोत क्या है । 

24 फरवरी : हम संभावित महामारी से निपटने के लिए तैयारी प्रक्रिया में हैं । 

25 फरवरी : CVOID 19 कोरोना वायरस के सामुदायिक प्रसारण की तैयारी ।

29 फरवरी : WHO वैश्विक स्तर पर कोरोना वायरस से खतरे को उच्चतम स्तर तक बढ़ाता है “हमने अब वैश्विक स्तर पर इसके फैलाव के जोखिम और CVOID 19 के प्रभाव को बढ़ा दिया है” । 

WHO ने कहा है :  “यदि हम ऐसे काम नहीं करते हैं जो हमें उस भविष्य की ओर ले जाए जैसा हम चाहते हैं तो वो भविष्य का सपना कभी पूरा नहीं होगा । इस महमारी का भविष्य कैसा होगा, ये भी बहुत कुछ हमारे हाथ में है”। 

29 फरवरी : इस महामारी के समुदाय में फैलने के साथ अमेरिका में एक मरीज की पहली मौत ।

महामारी क्या है ?  

WHO एक महामारी को "एक नई बीमारी के विश्वव्यापी प्रसार" के रूप में परिभाषित करता है।  यह उपलब्ध उपचार की कमी, मानव में रोगप्रतिरोधक क्षमता की कमी और एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलने की क्षमता से भी परिभाषित होता है।

रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्रों (CDC) के अनुसार, "कई देशों या महाद्वीपों में महामारी की बीमारी आम तौर पर बड़ी संख्या में लोगों को प्रभावित करती है"। ब्रिटेन के स्वास्थ्य और सुरक्षा कार्यकारी के अनुसार, यदि रोग "हाल ही में फैलने वाले उपभेदों से स्पष्ट रूप से अलग है" और अगर "मनुष्यों में बहुत कम या कोई प्रतिरोधक क्षमता नहीं है" तो वायरस के प्रकोप को एक महामारी के रूप में चित्रित किया जा सकता है।

एक बीमारी एक महामारी तब बन जाती है जब यह एक बड़े क्षेत्र में कई मनुष्यों को संक्रमित कर सकती है, एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में स्थानांतरित यानि फैल जाती है और रोगविषयक ​​बीमारी का कारण बन सकती है।

शब्द महामारी, इसके उलट एक के बजाय एक से अधिक स्थानीय या क्षेत्रीय पर पड़ने वाले प्रकोप को संदर्भित करता है। CDC का कहना है कि महामारी एक वृद्धि है जो आमतौर पर अचानक एक रोग के मामलों की संख्या में उस क्षेत्र की आबादी में सामान्य रूप से अपेक्षित है । 

इसी तरह WHO एक महामारी को परिभाषित करता है । "एक समुदाय या किसी बीमारी के मामलों के क्षेत्र में, विशिष्ट स्वास्थ्य-संबंधी व्यवहार या सामान्य अपेक्षा से अधिक स्पष्ट रूप से स्वास्थ्य संबंधी अन्य घटनाओं में।"

कोरोनज़ाइटी क्या है ?

बिमार होने या मरने के बारे में चिंता करना, देखभाल के दौरान संक्रमित होने के डर से हेल्थकेयर सुविधाओं से परहेज करना या न करना, रोज़ी-रोटी या आजिविका चले जाने का डर, अलग होने के बाद काम करने में सक्षम नहीं होने का डर, पॉजिटिव पाए जाने पर काम से निकाले जाने का डर,  सामाज से बहिष्कृत होने का डर, निगरानी में चले जाने का डर, निगरानी के कारण प्रियजनों और देखभाल करने वालों से अलग होने का डर, त्यागे गए या अलग हो चुके नाबालिगों की देखभाल करने से इंकार करना, अपने लापरवाह स्वभाव के कारण विकलांग या बुजुर्ग लोगों की देखभाल करने से इनकार कर देना, असहाय महसूस करना, बोरियत का एहसास, अलग-थलग होने के कारण अवसाद की भावना, संक्रमण के पॉज़ीटिव होने का कलंक, सरकार के खिलाफ गुस्सा और आक्रामकता, अदालतों से अनावश्यक संपर्क करना या चक्कर लगाना, सरकार द्वारा दी गई जानकारी पर भरोसा न करना, पहले से मानसिक रोगी में मानसिक बिमारी से छुटकारा, साथ में काम कर रहे संक्रमित सहयोगियों के काम को कवर करने के लिए लोगों पर काबू पाएं, 14 दिनों के लिए निगरानी और मिथकों एवं नकली समाचारों के लिए अपर्याप्त या अधूरी जानकारी का मिलना, ये सब कोरोनज़ाइटी के ही लक्षण हैं । 

आज के समय में कितने देश इससे प्रभावित हैं ?

64 देश ।

कितने महाद्वीप संक्रमित हुए हैं ?

अंटार्कटिका को छोड़कर सभी । 

आज तक कितने मामले सामने आए हैं ?

2977 मौतों के साथ 86,989 मामले ।

42,326 मामले बरामद हुए हैं, 42,326 वर्तमान में संक्रमित हैं ।

सामान्य स्थिति में 34,117 (82%) और 7569 (18%) गंभीर या बहुत गंभीर स्थिति में ।

और पढ़ें - डब्ल्यूएचओ द्वारा कोरोनवायरस के बारे में वर्तमान तथ्य

और पढ़ें- कोरोना वायरस के लिए कौन सा मास्क सबसे अच्छा है





Dr. KK Aggarwal

Recipient of Padma Shri, Vishwa Hindi Samman, National Science Communication Award and Dr B C Roy National Award, Dr Aggarwal is a physician, cardiologist, spiritual writer and motivational speaker. He was the Past President of the Indian Medical Association and President of Heart Care Foundation of India. He was also the Editor in Chief of the IJCP Group, Medtalks and eMediNexus

 More FAQs by Dr. KK Aggarwal