एक्स-रे क्या है?| X-ray in Hindi

आप में से ऐसे बहुत से लोग हैं जिन्होंने कभी न कभी अपने शरीर के किसी भी अंग का एक्स-रे करवाया होगा। यह एक ऐसी जांच है जिसके बारे में अक्सर हम सभी लोग बचपन से ही जानते हैं, लेकिन पूरी तरह से नहीं। जब हम एक्स-रे शब्द सुनते हैं तो वैसे हमारे ख्याल में एक काली तस्वीर सामने आ जाती है जिसमें हड्डियों की तस्वीर बनी होती है। एक्स-रे जहाँ एक तरफ हमारे उपचार में मदद करता है, वहीं इस जांच से हमें कई प्रकार की समस्याएँ भी हो सकती है, जिसके बारे में सभी लोग नहीं जानते हैं। हाँ, लेकिन इस लेख के जरिये आप इस बारे में जान सकते हैं, साथ ही एक्स-रे के बारे में और भी बहुत कुछ जान सकते हैं। 

एक्स-रे क्या है? What is X-ray?

एक्स-रे या एक्स-रे अध्ययन (जिसे रेडियोग्राफ़ भी कहा जाता है) एक प्रकार की चिकित्सा इमेजिंग (रेडियोलॉजी) जांच है जो आपकी हड्डियों और अंगों जैसे कोमल ऊतकों की तस्वीरें बनाता है। एक्स-रे मशीन इन चित्रों को बनाने के लिए सुरक्षित मात्रा में विकिरण का उपयोग करती है। एक्स-रे द्वारा बनाई गई तस्वीर से डॉक्टर को उपचार करने और उपचार की योजना बनाने में आसानी होती हैं।

अक्सर, डॉक्टर फ्रैक्चर यानि टूटी हुई हड्डियों की जांच के लिए एक्स-रे का उपयोग करते हैं। लेकिन एक्स-रे छवियां चिकित्सकों को चोटों, विकारों और बीमारियों की एक विस्तृत श्रृंखला का निदान करने में भी मदद कर सकती हैं। चिकित्सकों के लिए आपके स्वास्थ्य का मूल्यांकन करने के लिए एक्स-रे एक सुरक्षित और प्रभावी तरीका है। 

एक्स-रे की आवश्यकता किसे हो सकती है? Who might need an X-ray? 

शिशुओं सहित सभी उम्र के लोगों को एक्स-रे की आवश्यकता हो सकती है। यदि आपके गर्भवती होने की संभावना है, तो एक्स-रे कराने से पहले अपने डॉक्टर को इस बारे में बताएं। एक्स-रे से होने वाले विकिरण की वजह से आपके भ्रूण को नुकसान पहुंचा सकता है।

आपका डॉक्टर या जांचकर्ता निम्नलिखित स्वास्थ्य स्थितियों के लिए एक्स-रे का आदेश दे सकता है :-

  1. टूटी हुई हड्डी (फ्रैक्चर) की जाँच करें।

  2. दर्द और सूजन जैसे लक्षणों के कारण की पहचान करें।

  3. अपने शरीर में विदेशी वस्तुओं की तलाश करें।

  4. अपनी हड्डियों, जोड़ों या कोमल ऊतकों में संरचनात्मक समस्याओं की तलाश करें।

  5. उपचार की योजना बनाएं और उसका मूल्यांकन करें।

  6. कैंसर और अन्य बीमारियों के लिए नियमित जांच कराएं।

एक्स-रे के कितने प्रकार क्या हैं? How many types are X-rays?

एक्स-रे न केवल आपकी टूटी हड्डियों का किया जाता है बल्कि यह और भी कई तरह से इस्तेमाल किया जा सकता है और एक्स-रे के कई प्रकार होते हैं। इसके कई प्रकार आपके शरीर के अंदर विभिन्न क्षेत्रों की तस्वीरें लेने में समर्थ होते हैं। कुछ एक्स-रे तस्वीरों को स्पष्ट करने के लिए कंट्रास्ट सामग्री (डाई के रूप में भी जाना जाता है) का उपयोग करते हैं। कुछ सबसे सामान्य प्रकार के एक्स-रे में निम्नलिखित शामिल हैं :-

  1. पेट का एक्स-रे (Abdominal X-ray) :- यह एक्स-रे आपके गुर्दे, पेट, लीवर और मूत्राशय की तस्वीरों को दिखाता है। यह चिकित्सकों को गुर्दे की पथरी और मूत्राशय की पथरी जैसी स्थितियों का निदान करने में मदद करता है। कुछ विशेष प्रकार के पेट के एक्स-रे होते हैं जैसे बेरियम एनीमा (barium enema) जो कि पाचन तंत्र के कुछ हिस्सों का मूल्यांकन करने के लिए विशेष डाई (जिसे कंट्रास्ट कहा जाता है) का उपयोग करते हैं।

  2. हड्डी का एक्स-रे (Bone X-ray) :- आपका डॉक्टर टूटी हुई हड्डियों यानि फ्रैक्चर, अव्यवस्थित जोड़ों (dislocated joints) और गठिया को देखने के लिए हड्डी के एक्स-रे का उपयोग करता है। हड्डी के एक्स-रे की छवियां भी हड्डी के कैंसर या संक्रमण के लक्षण दिखा सकती हैं। रीढ़ की हड्डी का एक्स-रे रीढ़ की हड्डियों और ऊतकों को दिखाने में समर्थ होता है।

  3. छाती का एक्स-रे (Chest X-ray) :- यह परीक्षण निमोनिया, हृदय, फेफड़े और छाती की हड्डियों में असामान्यताओं का पता लगाने में मदद करता है।

  4. डेंटल एक्स-रे (Dental X-ray) :- डेंटल एक्स-रे आपके डॉक्टर को आपके दांतों और मसूड़ों का मूल्यांकन करने, संक्रमण की तलाश करने और गुहाओं (cavities) की जांच करने में मदद देता है। 

  5. फ्लोरोस्कोपी (Fluoroscopy) :- एक फ्लोरोस्कोपी अंगों और कोमल ऊतकों (जैसे आपकी आंतों) की चलती छवियों को दिखाती है। आपका डॉक्टर आपके अंगों को एक स्क्रीन पर गति में देखता है एक एक्स-रे फिल्म की तरह। जीआई एक्स-रे परीक्षा (GI X-ray exam) अक्सर फ्लोरोस्कोपी का उपयोग करती है।

  6. सीटी स्कैन (कंप्यूटेड टोमोग्राफी) CT scan (computed tomography) :- सीटी स्कैन एक रेडियोलॉजी अध्ययन है जो कि हड्डियों, अंगों और ऊतकों की क्रॉस-सेक्शन छवियों को बनाने के लिए एक्स-रे और कंप्यूटर का उपयोग करता है। यह एक डोनट के आकार की मशीन है जिसे आप चित्र लेते समय स्लाइड करते हैं।

  7. मैमोग्राम (Mammogram) :- प्रदाता स्तन ऊतक की एक्स-रे तस्वीरें लेने, स्तन गांठ का मूल्यांकन करने और स्तन कैंसर का निदान करने के लिए मैमोग्राम का उपयोग करते हैं।

कंट्रास्ट सामग्री वाला एक्स-रे क्या है? What is an X-ray with contrast material? 

कुछ एक्स-रे कंट्रास्ट सामग्री के उपयोग से किये जाते हैं, जिसे कंट्रास्ट एजेंट या डाई भी कहा जाता है। इसके विपरीत कंट्रास्ट सामग्री एक तरल, पाउडर या गोली के रूप में आती है। आपका जांचकर्ता आपको एक्स-रे से पहले कंट्रास्ट सामग्री देता है ताकि एक्स-रे किया जा सके। एक्स-रे के प्रकार के आधार पर, आपको कंट्रास्ट सामग्री दी जाती है, जिसके निम्नलिखित प्रकार है :  -

  1. मौखिक रूप से (मुंह से)।

  2. एक इंजेक्शन के माध्यम से जैसे एक अंतःशिरा (IV) –  intravenous (IV) शॉट द्वारा।

  3. मलाशय (एनिमा) में डालकर।

जब आपका जांचकर्ता आपको IV इंजेक्शन के माध्यम से डाई देता है, तो आप थोड़ी देर के लिए निस्तब्ध या गर्म महसूस कर सकते हैं। कुछ लोगों के मुंह में धातु जैसा स्वाद होता है। ये दुष्प्रभाव कुछ ही मिनटों में दूर हो जाते हैं, इसलिए ऐसे में घबराने की आवश्यकता नहीं है। 

कंट्रास्ट एजेंट एक्स-रे अध्ययन में नरम ऊतकों और अन्य संरचनाओं के प्रकट होने के तरीके को बदल देता है ताकि आपका जांचकर्ता उन्हें अधिक विस्तार से देख सके। 

एक्स-रे कैसे काम करता है? How does an X-ray work? 

एक एक्स-रे आपके शरीर के माध्यम से विकिरण (radiation) की किरणें भेजता है। विकिरण किरणें अदृश्य होती हैं, और आप उन्हें महसूस नहीं कर सकते। बीम आपके शरीर से गुजरते हैं और पास के एक्स-रे डिटेक्टर (X-ray detector) पर एक छवि बनाते हैं।

जैसे-जैसे किरणें आपके शरीर से गुजरती हैं, हड्डियां, कोमल ऊतक और अन्य संरचनाएं विभिन्न तरीकों से विकिरण को अवशोषित करती हैं। ठोस या सघन वस्तुएं (जैसे हड्डियां) विकिरण को आसानी से अवशोषित कर लेती हैं, इसलिए वे छवि पर चमकदार सफेद दिखाई देती हैं। नरम ऊतक (जैसे अंग) विकिरण को आसानी से अवशोषित नहीं करते हैं, इसलिए वे एक्स-रे पर भूरे रंग के रंगों में दिखाई देते हैं।

मैं एक्स-रे की तैयारी कैसे करूँ? How do I prepare for an X-ray? 

अपने स्वास्थ्य सेवा प्रदाता यानि जांचकर्ता को अपने स्वास्थ्य इतिहास, एलर्जी और आपके द्वारा ली जा रही किसी भी दवा के बारे में बताएं। यदि आप गर्भवती हैं या फिर आप स्तनपान करवा रही हैं तो आपको इस बारे में अपने जांचकर्ता को जरूर बताना चाहिए, ताकि इस संबंधित सावधानियां अपनाई जा सके। 

हड्डी के एक्स-रे की तैयारी के लिए आपको आमतौर पर कुछ भी करने की आवश्यकता नहीं होती है। अन्य प्रकार के एक्स-रे के लिए, आपका जांचकर्ता आपसे निम्न के लिए कह सकता है :- 

  1. लोशन, क्रीम या परफ्यूम के इस्तेमाल से बचें।

  2. गहने, हेयरपिन या श्रवण यंत्र जैसी धातु की वस्तुओं को हटा दें।

  3. कई घंटे पहले (जीआई एक्स-रे के लिए) खाना या पीना बंद कर दें।

  4. आरामदायक कपड़े पहनें या एक्स-रे से पहले गाउन में बदलें।

एक्स-रे जांच के दौरान क्या होता है? What happens during an X-ray test?

एक्स-रे के प्रकार के आधार पर, आपका जांचकर्ता आपको टेबल पर बैठने, खड़े होने या लेटने के लिए कहेगा। 

एक्स-रे के दौरान, आपका जांचकर्ता आपके शरीर या अंगों को अलग-अलग स्थिति में ले जा सकता है और आपको स्थिर रहने के लिए कह सकता है। आपको कुछ सेकंड के लिए अपनी सांस रोककर रखने की आवश्यकता हो सकती है ताकि छवियां धुंधली न हों।

कभी-कभी बच्चे स्पष्ट चित्र बनाने के लिए पर्याप्त देर तक स्थिर नहीं रह पाते हैं। आपके बच्चे का जांचकर्ता एक्स-रे के दौरान संयम का उपयोग करने की सिफारिश कर सकता है। इस दौरान इम्मोबिलाइज़र (immobilizer) आपके बच्चे को स्थिर रहने में मदद करता है और रीटेक की आवश्यकता को कम करता है। संयम आपके बच्चे को चोट नहीं पहुंचाएगा और न ही नुकसान पहुंचाएगा। 

एक्स-रे के बाद मुझे क्या समस्याएँ हो सकती है? What problems can I have after an X-ray?

यदि आपको अपने एक्स-रे से पहले कंट्रास्ट डाई मिली है, तो आपको अपने शरीर से कंट्रास्ट सामग्री को निकालने के लिए खूब पानी पीना चाहिए। कुछ लोगों को कंट्रास्ट डाई से साइड इफेक्ट होते हैं, जिनमें निम्नलिखित शामिल हो सकते हैं :-

  1. उलटी अथवा मितली।

  2. पेट में ऐंठन या दस्त।

  3. सिरदर्द।

  4. स्वाद में बदलाव (यदि मौखिक रूप से ली गई है)।

शायद ही कभी, विपरीत सामग्री के लिए एलर्जी की प्रतिक्रिया हो सकती है। जिन लोगों को एलर्जी या अस्थमा है, उनमें कंट्रास्ट डाई से एलर्जी की प्रतिक्रिया होने की संभावना अधिक होती है। प्रतिक्रिया के अपने जोखिम के बारे में अपने जांचकर्ता से बात करें, और यदि आपके पास असामान्य लक्षण हैं तो तुरंत अपने जांचकर्ता या डॉक्टर को इस बारे में जरूर बताएं। 

एक्स-रे से क्या जोखिम हो सकते हैं? What are the risks of X-rays?

हालांकि एक्स-रे विकिरण का उपयोग करते हैं (जो कैंसर और अन्य स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन सकते हैं), एक्स-रे के दौरान विकिरण के अधिक जोखिम होने के जोखिम कम होते हैं। कुछ एक्स-रे दूसरों की तुलना में विकिरण की उच्च खुराक का उपयोग करते हैं। आम तौर पर, एक्स-रे सभी उम्र के लोगों के लिए सुरक्षित और प्रभावी होते हैं।

एक्स-रे से विकिरण आपके भ्रूण को नुकसान पहुंचा सकता है। यदि आप गर्भवती हैं, तो आपका जांचकर्ता एमआरआई या अल्ट्रासाउंड जैसे अन्य इमेजिंग अध्ययन का चयन कर सकती हैं। 

मुझे अपने एक्स-रे के परिणाम कब मिल सकते हैं? When can I get my X-ray results?

हड्डी के एक्स-रे के परिणाम आमतौर पर तुरंत तैयार होते हैं। आपका डॉक्टर एक्स-रे के बाद आपके परिणाम आपके साथ साझा कर सकता है। अन्य प्रकार के एक्स-रे (जैसे जीआई परीक्षण) के परिणामों में अधिक समय लग सकता है। अपने जांचकर्ता से बात करें कि आप रिपोर्ट कब प्राप्त कर सकते हैं।

मुझे अपने डॉक्टर को कब बुलाना चाहिए? When should I call my doctor? 

विपरीत सामग्री से एलर्जी की प्रतिक्रिया दुर्लभ है। एक्स-रे के एक या दो दिन बाद तक लक्षण दिखाई दे सकते हैं। यदि आपको अपने एक्स-रे से पहले कंट्रास्ट सामग्री प्राप्त हुई है, तो अपने जांचकर्ता को कॉल करें यदि आप निम्नलिखित समस्याओं से जूझ रहे हैं :-

  1. सिरदर्द।

  2. त्वचा लाल चकत्ते, पित्ती या खुजली।

  3. उलटी अथवा मितली। 

  4. सांस लेने में तकलीफ या सांस की तकलीफ।

Logo

Medtalks is India's fastest growing Healthcare Learning and Patient Education Platform designed and developed to help doctors and other medical professionals to cater educational and training needs and to discover, discuss and learn the latest and best practices across 100+ medical specialties. Also find India Healthcare Latest Health News & Updates on the India Healthcare at Medtalks