गले में खराश को समझना और उसका प्रबंधन करना

गला खराब होना

  • एक सामान्य बीमारी। 1
  • अक्सर वायरल या बैक्टीरियल संक्रमण के कारण होता है। 1
  • एलर्जी या धुंआ भी गले में खराश का कारण बन सकता है।
  • उचित उपचार से शीघ्र राहत मिल सकती है।

गले में खराश के कारण हो सकते हैं –

  • गले में दर्द।1
  • बुखार।1
  • गर्दन की ग्रंथियों में सूजन।1
  • गले पर मवाद के सफेद धब्बे।1
  • गले पर खरोंच या सूखापन महसूस होना।2
  • निगलने में कठिनाई।2
  • कर्कश या दबी हुई आवाज।2

यदि आपको अनुभव हो तो तुरंत अपने स्वास्थ्य सेवा प्रदाता से संपर्क करें:

  • साँस लेने में कठिनाई। 1
  • रक्तरंजित लार।3
  • त्वचा पर दाने। 4
  • निगलने में असमर्थता।3
  • गर्दन या जीभ की सूजन।3
  • या लंबे समय से चली आ रही बीमारियाँ या दवाएँ हैं जो आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को कमजोर करती हैं।1

घर पर गले की खराश से निपटने के लिए टिप्स –

  • वायरल संक्रमण के लिए एंटीबायोटिक्स न लें, इसके बजाय, गले पर वायरल और बैक्टीरियल भार को कम करने के लिए पोविडोन आयोडीन गार्गल का उपयोग करें।5
  • आप ओवर-द-काउंटर दर्द निवारक दवाएं ले सकते हैं, और एनेस्थेटिक स्प्रे का उपयोग कर सकते हैं।1
  • गले को आराम देने के लिए विटामिन सी की गोलियां चूसें और शहद चाटें।6
  • धूम्रपान और धुएँ वाले वातावरण से बचें।
  • हवा में नमी जोड़ने और गले में सूखापन से राहत पाने के लिए एक साफ ह्यूमिडिफ़ायर या कूल मिस्ट वेपोराइज़र का उपयोग करें।
  • खूब सारे तरल पदार्थों और गर्म पेय पदार्थों से अच्छी तरह से हाइड्रेटेड रहें।1
  • ज्यादा चबाने वाला न भोजन करें।
  • पर्याप्त आराम करें और बेहतर महसूस होने पर अपनी दैनिक गतिविधियों पर वापस लौट आएं।1

गले में खराश से बचने के उपाय –

  • बार-बार हाथ धोएं।2
  • संक्रमण से पीड़ित व्यक्तियों के साथ निकट संपर्क से बचें।2
  • खांसते या छींकते समय टिश्यू का इस्तेमाल करें।

यदि आपके गले में खराश है –

  • जब तक आप एंटीबायोटिक्स लेने के 24 घंटे पूरे न कर लें, तब तक घर पर ही रहें।
  • उपचार से 24 घंटों के भीतर आपके लक्षणों में सुधार होगा और आप कम संक्रामक हो जायेंगे।

व्यक्तिगत स्वच्छता को प्राथमिकता दें और शीघ्र स्वस्थ होने तथा अपने दैनिक जीवन पर प्रभाव को कम करने के लिए चिकित्सकीय सलाह लें।

References-


1. Krüger K, Töpfner N, Berner R, et al. Clinical Practice Guideline: Sore Throat. Dtsch Arztebl Int. 2021;118(11):188-94. doi: 10.3238/arztebl.m2021.0121. PMID: 33602392; PMCID: PMC8245861.

2. Sharma V, Sheekha J. Understanding about Recurrent Sore Throat among School Going Adolescent Children. HmlynJrAppl Med Scie Res. 2023; 4(1):9-12

3. Centor RM, Samlowski R. Avoiding Sore Throat Morbidity and Mortality: When Is It Not “Just a Sore Throat?”. Am Fam Physician. 2011;83(1):26-28

4. Wilson M, Wilson PJK. Sore Throat. In: Close Encounters of the Microbial Kind. Springer, Cham. 2021. https://doi.org/10.1007/978-3-030-56978-5_13

5. Naqvi SHS, Citardi MJ, Cattano D. et al. Povidone-iodine solution as SARS-CoV-2 prophylaxis for procedures of the upper aerodigestive tract a theoretical framework. J of Otolaryngol - Head & Neck Surg. 2020; 49:77. https://doi.org/10.1186/s40463-020-00474-x

6. Collins JC, Moles RJ. Management of Respiratory Disorders and the Pharmacist's Role: Cough, Colds, and Sore Throats and Allergies (Including Eyes). Encyclopedia of Pharmacy Practice and Clinical Pharmacy. 2019: 282-291. https://doi.org/10.1016/B978-0-12-812735-3.00510-0


Logo

Medtalks is India's fastest growing Healthcare Learning and Patient Education Platform designed and developed to help doctors and other medical professionals to cater educational and training needs and to discover, discuss and learn the latest and best practices across 100+ medical specialties. Also find India Healthcare Latest Health News & Updates on the India Healthcare at Medtalks